लाइव टीवी

रेप की घटनाओं से आहत RJD की महिला नेत्री बोलीं- दुष्कर्मियों को नपुंसक बनाओ

Ajeet Kumar | News18 Bihar
Updated: December 20, 2019, 8:49 AM IST
रेप की घटनाओं से आहत RJD की महिला नेत्री बोलीं- दुष्कर्मियों को नपुंसक बनाओ
राजद नेत्री और पूर्व मंत्री कांति सिंह ने रेपिस्टों को नपुंसक बनाने की मांग की है (फाइल फोटो)

पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति सिंह (RJD Leader Kanti Singh) ने वर्तमान सरकार पर भी तंज कसा और कहा कि सरकार का स्लोगन है कि बिहार में बहार है लेकिन बेटियां सुरक्षित नहीं है.

  • Share this:
रोहतास. पूर्व केंद्रीय मंत्री और राजद (RJD) की वरिष्ठ महिला नेता डॉ. कांति सिंह (RJD Leader Kanti Singh) ने दुष्कर्मियों (Rapist) के लिए अजीबोगरीब मांग की है. उन्होंने सासाराम में कहा कि पास्को जैसे कठोर कानून के बाद भी दुष्कर्मी मानने को तैयार नहीं हैं, ऐसे में इस पर नियंत्रण के लिए सरकार को नया कानून बनाना चाहिए तथा रेपिस्टों को नपुंसक बनाकर समाज में छोड़ देना चाहिए. कांति ने कहा कि जिस तरह से दुष्कर्म के बाद बेटियां जलालत झेलती हैं ताउम्र दुष्कर्मी भी समाज में जलालत झेलें.

गैंगरेप पीड़िता से मिलने गई थी डॉ. कांति

रविवार को रोहतास जिला के राजपुर थाना अंतर्गत एक गांव में एक लड़की के साथ गांव के ही 4 मनचलों ने गैंगरेप का प्रयास किया था जिसमें पुलिस ने मुख्य आरोपी आजाद खान सहित चारों दुष्कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया था इसके बाद मंगलवार को पीड़ित लड़की को अपराधियों ने फिर गोली मार दी थी जिससे गंभीर रूप से घायल होकर बेहतर इलाज के लिए सासाराम के नारायण मेडिकल कॉलेज में भर्ती है. महिला राजद की राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. कांति सिंह ने पीड़ित लड़की तथा उनके परिजनों से मिलकर भावुक हो गईं.

बिहार में असुरक्षित हैं बेटियां

कांति ने बताया कि यह घटना काफी मार्मिक है. बिहार में एक तरफ जहां अपराधियों का मनोबल इतना बढ़ गया है कि दुष्कर्म करने के बाद पीड़ित को गोली मार दी जाती है. यह घटना ये बताने के लिए काफी है कि अपराधियों में अब पुलिस का खौफ नहीं रहा. उन्होंने वर्तमान सरकार पर भी तंज कसा तथा कहा कि सरकार का स्लोगन है कि बिहार में बहार है लेकिन बेटियां सुरक्षित नहीं है.

सजा दिलाने में विफल है सरकारें

डॉ. कांति सिंह ने कहा कि राज्य की सरकार हो या फिर केंद्र की सरकार, रेपिस्टों को सजा दिलाने में विफल रही हैं. यही कारण है कि आज 7 साल बीतने को है लेकिन दिल्ली की निर्भया के दोषियों को सजा नहीं मिल पाई है. यह सरकारों की विफलता ही नहीं है बल्कि दर्शाता है कि बेटियों के प्रति उनके पास कितना सम्मान है. खासकर बिहार में मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड हो या फिर दुष्कर्म पीड़िता को जिंदा जलाने का मामला. सभी मामलों में सरकार ने लीपापोती करने का काम किया है। वही पुलिस भी 'आईवास' करती दिख रही है.ये भी पढ़ें -बीएसईबी ने किया ऐलान, Bihar में इस दिन होगी STET की परीक्षा

ये भी पढ़ें -बिहार बंद: हाथ में हथकड़ी और पैर में बेड़ियां डालकर पटना में निकले पप्पू यादव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 20, 2019, 8:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर