पुराने सहयोगी उमेश कुशवाहा के JDU प्रदेश अध्यक्ष बनने से उपेंद्र कुशवाहा खुश, कही यह बात...

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के मन में सॉफ्ट कॉर्नर बनता जा रहा है

बिहार विधानसभा चुनाव के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रति आरएलएसपी अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा के मन में सॉफ्ट कॉर्नर बनता जा रहा है

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने कहा कि मकर संक्रांति (Makar Sankranti 2021) के बाद बिहार में किसी तरह की कोई राजनीतिक समीकरण बदलेगी या नहीं, इसको लेकर अभी भविष्यवाणी करना ठीक नहीं है. मीडिया के द्वारा कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं लेकिन फिलहाल किसी राजनीतिक हलचल की भविष्यवाणी करना उचित नहीं है

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 11, 2021, 6:07 PM IST
  • Share this:
डेहरी ऑन सोन (रोहतास). बिहार के राजगीर (Rajgir) में दो दिन तक चले जनता दल युनाइटेड (JDU) के राजनीतिक मंथन और नए प्रदेश अध्यक्ष चुनने पर राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (RLSP) के सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा (Upendra Kushwaha) ने प्रतिक्रिया दी है. रविवार को रोहतास (Rohtas) जिले के डेहरी ऑन सोन के आयरकोठा में एक कार्यकर्ता के यहां निजी कार्यक्रम में शामिल होने आए कुशवाहा ने कहा कि आखिर क्या कारण है कि आज जेडीयू की यह स्थिति हो गई है? मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को वर्तमान हालात की समीक्षा करनी चाहिए. अपनी पुरानी साख को कैसे कायम रखा जाए? उन्हें इसकी वजह तलाशनी चाहिए.

उमेश कुशवाहा को जेडीयू का नया प्रदेश अध्यक्ष बनाने पर उन्होंने कहा कि यह उनकी पार्टी (जेडीयू) का आंतरिक मामला है इसलिए उन्हें इस बारे में उन्हें कुछ नहीं कहना है. हालांकि उन्होंने यह कहा कि अगर जेडीयू ने उमेश कुशवाहा पर विश्वास जताया है, तो अच्छी बात है. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मकर संक्रांति के बाद बिहार में किसी तरह की कोई राजनीतिक समीकरण बदलेगी या नहीं, इसको लेकर अभी भविष्यवाणी करना ठीक नहीं है. मीडिया के द्वारा कई तरह की चर्चाएं हो रही हैं लेकिन फिलहाल किसी राजनीतिक हलचल की भविष्यवाणी करना उचित नहीं है.

बता दें कि विधानसभा चुनाव के बाद से उपेंद्र कुशवाहा लगातार जेडीयू के प्रति नरम रुख अपना रहे हैं. उनके मन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के लिए भी सॉफ्ट कॉर्नर बनता दिख रहा है. पिछले दिनों सीएम आवास में नीतीश कुमार से उनकी गुपचुप मुलाकात हुई थी. जेडीयू ने उमेश कुशवाहा को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर फिर 'लव-कुश' समीकरण को जिस तरह साधने की कोशिश की है, उपेंद्र कुशवाहा उसे भली-भांति समझते हैं.

Youtube Video

बता दें कि उमेश कुशवाहा और उपेंद्र कुशवाहा दोनों वैशाली जिला के रहने वाले हैं. दोनों की राजनीतिक पृष्ठभूमि भी एक है. बताया जाता है कि जेडीयू में रहते हुए जब उपेंद्र कुशवाहा का नाम कद्दावर नेताओं में शुमार था, तब भी उमेश कुशवाहा की उनके साथ अच्छी बनती थी. इसलिए एक बार फिर जेडीयू में लव-कुश समीकरण सामने आने पर राजनीतिक चर्चा होना लाजमी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज