लाइव टीवी

'वज्र' के समान है इस पहलवान का शरीर, एक साथ खींच देता है दो ट्रैक्टर

News18 Bihar
Updated: November 9, 2019, 10:01 AM IST
'वज्र' के समान है इस पहलवान का शरीर, एक साथ खींच देता है दो ट्रैक्टर
एक साथ दो ट्रैक्टरों को खींचते हुए संतोष पहलवान

संतोष का कहना है कि वो 2005 से ही पहलवानी कर रहा है. वे अपने दादा से पहलवानी के गुड़ सीखे हैं.

  • Share this:
रोहतास. बिहार के रोहतास (Rohtas) जिले के बिक्रमगंज (Bikramganj) थाना क्षेत्र स्थित धावा गांव के रहने वाले संतोष पहलवान (Santosh Pahalwan) इन दिनों सुर्खियों में हैं. वो पूरे इलाके में अपनी पहलवानी का लोहा मनवा रहे हैं. संतोष पहलवान एक हाथ दो ट्रैक्टरों को खींच देते हैं. खास बात यह है कि संतोष दो ट्रैक्टरों को एक साथ खींचने के बाद दोनों के बोनट को फिर से सटा भी देते हैं.

लोगों का कहना है कि संतोष का शरीर 'वज्र' के समान मजबूत है. इतना ही नहीं वो 2 लोगों द्वारा अपने शरीर पर गदानुमा मुंगरी से प्रहार भी करवाते हैं. लेकिन उनके शरीर पर कोई असर नहीं होता है. संतोष के इस कारनामे को देखने के लिए पूरा गांव इकट्ठा हो जाता है. संतोष का कहना है कि कि उसके दादा पहलवान थे. उन्होंने दादा से पहलवानी के गुड़ सिखे हैं. वो वर्ष 2005 से ही पहलवानी कर रहे हैं.

संतोष के शरीर पर मुंगरी से प्रहार करते लोग


पूरे जिले के अंदर सुर्खियां बने हुए हैं

स्थानीय लोगों का कहना है कि धावा निवासी संतोष पहलवान इन दिनों पूरे जिले के अंदर सुर्खियां बने हुए हैं. वो अपनी ताकत के बदौलत अकेले दो ट्रैक्टरों के एक साथ खींच देते हैं और इसके बाद दोनों को फिर से आपस में सटा देते हैं. गांव वालों की माने तो संतोष के लिए यह रोज का कर्तव्य हो गया है. पहलवानी के लिए संतोष को कई इनाम भी मिले हैं.

ये भी पढ़ें- 

चंपारण में 300 करोड़ की योजनाओं का आगाज कर CM नीतीश ने एक बार फिर मांगा मौका
Loading...

महागठबंधन से अलग हुई जीतन राम मांझी की पार्टी, BJP के साथ जाने की अटकलें

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 9, 2019, 9:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...