सासाराम: चौड़ा रास्ता मांग रहे ग्रामीणों ने रोका रेल ट्रैक मेंटेनेंस कार्य, बाधित रहेगा परिचालन

News18 Bihar
Updated: August 24, 2019, 4:18 PM IST
सासाराम: चौड़ा रास्ता मांग रहे ग्रामीणों ने रोका रेल ट्रैक मेंटेनेंस कार्य, बाधित रहेगा परिचालन
गया-मुगलसराय रेलखंड पर ग्रामीणों ने मेंटेनेंस कार्य रोका. समझाने की कोशिश करते डीआरएम पंकज सक्सेना.

मामला सुलझाने पहुंचे मुगलसराय के डीआरएम पंकज सक्सेना ने ग्रामीणों को समझाने बुझाने का प्रयास किया. लेकिन, ग्रामीण नहीं माने.

  • Share this:
बिहार में पूर्व मध्य रेल मंडल (East Central Railway) के गया-मुगलसराय (Gaya- mughalsarai) रेलखंड पर किए जा रहे मेंटेनेंस कार्य को धनपुरवा के पास ग्रामीणों ने रोक दिया. इसके साथ ही सासाराम (Sasaram) में 17 अगस्त से चल रहे रेल-ट्रैक मेंटेनेंस कार्य बाधित हो गया है. खास तौर पर आरा-सासाराम रेलखंड की ओर चल रहे ट्रैक मेंटेनेंस कार्य में अधिक व्यवधान पहुंचा है.

रेल ट्रैक पर बैठ गए ग्रामीण
रेलवे ट्रैक पर बैठ कर विरोध करते हुए ग्रामीणों का कहना है कि धनपुरवा गांव में जाने के लिए अब कोई रास्ता नहीं बचा है. रेलवे ने बिहार सरकार की सड़क को भी अधिकृत कर ली है. ऐसे में उन लोगों के गांव में आने- जाने का रास्ता काफी संकीर्ण हो गया है. ग्रामीण धनपुरवा गांव में जाने के लिए रेलवे ट्रैक के बगल से 20 फीट का रास्ता मांग रहे हैं.

डीआरएम की बात भी नहीं सुनी

मामला सुलझाने पहुंचे मुगलसराय के डीआरएम पंकज सक्सेना ने ग्रामीणों को समझाने बुझाने का प्रयास किया. लेकिन, ग्रामीण नहीं माने. उसके बाद ट्रैक मेंटेनेंस कार्य को रोक दिया गया. ग्रामीणों का कहना है कि भूमि अधिग्रहण में भी रेलवे ने उन लोगों के साथ छल किया है. इसके अलावा अब गांव में जाने के लिए उचित रास्ता नहीं बचा है. ऐसे में मेंटेनेंस कार्य कर रही कंपनी को गांव में जाने-आने के लिए रास्ता देना चाहिए.

रोका गया मेंटेनेंस कार्य
वहीं, डीआरएम पंकज सक्सेना ने न्यूज 18से कहा कि उन्होंने विरोध करने वालों को बहुत समझाने की कोशिश की, लेकिन वे नहीं माने. इसीलिए फिलहाल रेलवे का ट्रैक मेंटेनेंस कार्य को रोक दिया गया है. बता दें की रेलवे के मेंटेनेंस कार्य को लेकर सासाराम-आरा रेलखंड पर रेल परिचालन पूरी तरह से ठप है. इसके अलावा गया-मुगलसराय रेलखंड पर भी कई ट्रेनों को बाधित किया गया है.
Loading...

29 अगस्त तक पूरा होना था कार्य
बता दें कि इस मेंटेनेंस कार्य को पहले जहां 29 अगस्त तक पूरा कर लेना था, लेकिन इस अवरोध उत्पन्न होने के का रण कार्य पूर्ण होने की तिथि बढ़ सकती है. हालांकि ग्रामीणों का कहना है कि वे लोग रेल के विकास के बाधक नहीं हैं, लेकिन गांव में आने-जाने का रास्ता भी तो होना चाहिए.

डीआरएम बोले- समुचित रास्ता दिया गया है
वहीं, मुगलसराय के डीआरएम पंकज सक्सेना ने बताया कि इस तरह से विवाद पैदा करने से दिक्कत आ रही है. गांव में आने-जाने के लिए पहले से समुचित रास्ता है. रेलवे ने जब जमीन अधिग्रहण किया था, उस समय भी इसका पूरा ख्याल रखा गया था.

ट्रेन परिचालन बाधित रहेगा- डीआरएम
डीआरएम ने कहा कि अगर ग्रामीणों का यही रवैया रहा, तो रेल परिचालन अभी और बाधित हो सकती है. क्योंकि जब तक ट्रैक मेंटेनेंस का एनआई कार्य पूरा नहीं होगा. सासाराम-आरा रेलखंड पर रेल परिचालन बाधित ही रहेगा. बता दें कि आरा-सासाराम रेलखंड पर 24 अगस्त से परिचालन पूरी तरह से ठप है.  3 सितंबर तक ट्रैक मेंटेनेंस का कार्य पूरा कर सुचारू करना था, लेकिन अब इसकी तिथि बढ़ सकती है.

रिपोर्ट- अजीत कुमार

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रोहतास से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 4:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...