लाइव टीवी

ऑपरेशन के बाद कर दिया डिस्चार्ज, अब पता चला चाकू पेट में ही है

News18 Bihar
Updated: September 17, 2018, 7:16 AM IST

मोहम्मद शोएब पर जमीनी विवाद में चाकू से हमला किया गया था. इस हमले में शोएब के बड़े भाई की मौत हो गई थी और शोएब को भी गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया था.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 17, 2018, 7:16 AM IST
  • Share this:
अस्पताल में लापरवाही के किस्से तो आपने सुने होंने पर हम जो आपको बताने जा रहे हैं वो सुनकर आप के पैरों तले जमीन खिसक जाएगी. जी हां सहरसा के अस्पताल में 18 दिन तक रहने के बाद भी युवक अपने शरीर में चाकू लिए घूम रहा था. और तो और डॉक्टरों ने उसे फिट बता कर डिस्चार्ज भी कर दिया था.

दरअसल सहरसा के सदर अस्पताल में मोहम्मद शोएब नाम का एक युवक 18 दिन के लिए भर्ती हुआ था. मोहम्मद शोएब पर जमीनी विवाद में चाकू से हमला किया गया था. इस हमले में शोएब के बड़े भाई की मौत हो गई थी और शोएब को भी गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती किया गया था. इस अस्पताल में शोएब को भर्ती कर इलाज शुरू किया गया. 18 दिन बाद शोएब को फिट बता कर  डिस्चार्ज कर दिया गया.

VIDEO: मुजफ्फरपुर में कलयुगी बेटे ने चाकू से गोदकर पिता की हत्या की

अस्पताल से छुट्टी के बाद भी शोएब का दर्द ठीक नहीं हुआ. करीब डेढ़ महीने दर्द झेलने के बाद शोएब को एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया. जहां एक्सरे करवाने के बाद, मल के रास्ते में चाकू स्पष्ट देखा गया. इस अस्पताल में ही डॉक्टरों ने ऑपरेट कर चाकू के एक हिस्से को निकाल लिया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहरसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 16, 2018, 8:38 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर