हकीकत: बिहार के इस अस्पताल में गार्ड करता है इलाज, पर्ची काटता है डॉक्टर

अस्पताल के गार्ड ने बताया कि यहां कम्पाउंडर की कमी है इसलिए मानवता के नाते इलाज कर रहे हैं. वह यह भी दावा करता है कि उसे गार्ड का काम ही नहीं बल्कि मरीजों की बीमारी और उसके इलाज करने के बारे में भी खूब जानकारी है.

News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 3:17 PM IST
हकीकत: बिहार के इस अस्पताल में गार्ड करता है इलाज, पर्ची काटता है डॉक्टर
बिहार में सहरसा जिले के बख्तियारपुर अस्पताल में गार्ड इलाज करता है.
News18 Bihar
Updated: July 30, 2019, 3:17 PM IST
स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर हमेशा सवालों के घेरे में रहे बिहार में एक बार फिर लापरवाही सामने आई है. सहरसा जिले के एक अनुमंडल अस्पताल में डॉक्टर नहीं बल्कि गार्ड इलाज करता नजर आ रहा है. हैरत की बात ये है कि यह सब अस्पताल में मौजूद डॉक्टर के सामने होता है. वहीं, डॉक्टर इलाज छोड़ मरीजों के लिए पर्ची बनाते हैं. मामला सिमरी बख्तियारपुर अनुमंडल अस्पताल का है.

गार्ड करता है इलाज, पर्ची काटते हैं डॉक्टर
दरअसल 28 जुलाई की रात जब इस अनुमंडल के अलग-अलग क्षेत्रों में सड़क हादसे में कई लोग घायल हो गए थे तो उन्हें इलाज के लिए अस्पताल लाया गया था. इस दौरान डॉक्टर नहीं बल्कि गार्ड ने सभी मरीजों का इलाज किया. खास बात ये कि डॉक्टर वहां मौजूद रहे और पर्ची बनाने में मशगूल रहे.

गार्ड का दावा, डॉक्टर से कम नहीं

अस्पताल के गार्ड ने बताया कि यहां कम्पाउंडर की कमी है इसलिए मानवता के नाते इलाज कर रहे हैं. वह यह भी दावा करता है कि उसे गार्ड का काम ही नहीं बल्कि मरीजों की बीमारी और उसका इलाज करने के बारे में भी खूब जानकारी है. वहीं स्थानीय लोग कहते हैं कि इस अस्पताल में मरीजों की जान से खिलवाड़ किया जाता है.

सिविल सर्जन बोले- होगी कार्रवाई
न्यूज 18 के कैमरे में कैद इस सच पर जब जिले के सिविल सर्जन ललन प्रसाद सिंह से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इसकी जांच करवाई जाएगी. बहरहाल जिस प्रदेश में तमाम दावों के बावजूद चमकी बुखार से 180 बच्चों की मौत एक महीने के भीतर हो जाए, वहां ये हकीकत वाकई में शर्मसार करने वाली है.
Loading...

(रिपोर्ट- कुमार अनुभव) 

ये भी पढ़ें- पूर्व वैज्ञानिक का दावा, मिशन शुक्र पर भी आगे बढ़ रहा ISRO
First published: July 30, 2019, 3:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...