लाइव टीवी

बिहार: अपने ही उम्मीदवारों को हराने में जुटीं कांग्रेस की ये नेता, ऐसा क्यों

News18 Bihar
Updated: April 29, 2019, 6:50 PM IST
बिहार: अपने ही उम्मीदवारों को हराने में जुटीं कांग्रेस की ये नेता, ऐसा क्यों
लवली आनंद (फाइल फोटो)

कांग्रेस की बागी नेता लवली आनंद ने दावा किया कि चौथे चरण में भी महागठबंधन की हार पक्‍की है.

  • Share this:
बिहार में कई दलों के बागी अपनी ही पार्टियों के लिए सिरदर्द बने हैं. इसी कड़ी में एक नाम है पूर्व सांसद लवली आनंद का. वह कांग्रेस में होते हुए भी कांग्रेस और महागठबंधन के प्रत्याशियों को हराने के लिए वोट मांग रही हैं. इतना ही नहीं वह खुलकर एनडीए के पक्ष में लोगों को मतदान करने के लिए उत्साहित भी करने में लगी हैं. सहरसा में पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन को हर फेज में हराने के लिए वह काम करेंगी.

कांग्रेस की बागी नेता ने दावा किया कि चौथे चरण में भी महागठबंधन की हार सुनिश्चित है. वह और उनके समर्थक मुंगेर से राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह की मदद कर रहे हैं. उन्होंने दावा किया कि मुंगेर से महागठबंधन की प्रत्याशी की हार होगी और जेडीयू के ललन सिंह भारी मतों के अंतर से जीतेंगे.

ये भी पढ़ें- केसी त्यागी बोले- कन्हैया के कद से 'डर' गए तेजस्वी, बेगूसराय का मुकाबला हुआ रोचक

लवली आनंद ने यह भी दावा किया कि सुपौल, मधेपुरा, मोतिहारी और शिवहर में भी महागठबंधन की हार होगी. उन्होंने कहा कि शिवहर के लोगों के साथ न्याय नहीं हुआ है, वहां मैंने मेहनत की थी. लोगों के बीच समय दिया था और ऐन मौके पर मेरा टिकट कट गया और पैराशूट से धनपशु आ गए. ऐसे में मैं घोषणा कर चुकी हूं कि महागठबंधन को हर फेज में हर जगह पर हराएंगे.

पूर्व सांसद ने कहा कि 13 वर्ष से पूर्व सांसद आनंद मोहन जेल की सलाखों में बंद हैं, इसलिए उनकी रिहाई के लिए जो भी हमलोगों की मदद में आगे आएंगे, हमलोग उनका साथ देंगे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी हरेक मंच से हमारे कार्यकर्ताओं को मदद के लिए धन्यवाद दिया है.

ये भी पढ़ें- Lok Sabha Election: कन्हैया कुमार ने बेगूसराय में डाला वोट फिर फेसबुक पर की इमोशनल अपील

लवली आनंद ने कहा कि 5 जून को महाराणा प्रताप की जयंती के अवसर पर सहरसा में आनंद मोहन की रिहाई को लेकर एक बड़ा आंदोलन होगा जिसमें बिहार और झारखंड से बड़े पैमाने पर लोग जुटेंगे.
Loading...

बता दें कि बीते 25 जनवरी को लवली आनंद कांग्रेस में शामिल हुई थीं. जानकारी के अनुसार उन्हें पार्टी ने शिवहर से चुनाव टिकट देने का आश्वासन दिया था, लेकन यह सीट आरजेडी के खाते में चली गई और वहां से पार्टी ने सैयद फैसल अली को टिकट दे दिया. इसके बाद से ही लवली आनंद ने बागी तेवर अख्तियार कर लिया है. हालांकि अभी उन्होंने पार्टी से इस्तीफा नहीं दिया है.

रिपोर्ट- कुमार अनुभव सिंह

ये भी पढ़ें-

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहरसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 29, 2019, 3:14 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...