Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Bihar Election: भरी सभा में कांग्रेस प्रत्याशी ने फाड़ा अपना कुर्ता और ले ली भीष्म प्रतिज्ञा

    बिहार के समस्तीपुर में अपना कुर्ता फाड़ता कांग्रेस प्रत्याशी
    बिहार के समस्तीपुर में अपना कुर्ता फाड़ता कांग्रेस प्रत्याशी

    Bihar Election 2020: कांग्रेस प्रत्याशी द्वारा कुर्ता फाड़ने का ये मामला समस्तीपुर का है जहां रोसड़ा को जिला का दर्जा दिलवाने की प्रतिज्ञा करते हुए कांग्रेस प्रत्याशी इतने जोश में आ गए कि उन्होंने अपना कुर्ता तक फाड़ डाला.

    • Share this:
    समस्तीपुर. बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव (Bihar Election 2020) के दौरान नेताओं और प्रत्याशियों के दावे और वादे का खेल जारी है. वादा करने के दौरान एक नेता सह प्रत्याशी इतने उत्साहित हो गए कि एक बैठक में उन्होंने अपना कुर्ता ये कहते हुए फाड़ दिया कि जब तक अपने इलाके को जिला के रूप में स्थापित नही करूंगा कुर्ता नहीं पहनूंगा. मामल समस्तीपुर (Samastipur)जिले से जुड़ा है.

    जिले के 10 विधानसभा क्षेत्रों में से पांच विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव दूसरे चरण में है और बाकी के 5 विधानसभा क्षेत्र का चुनाव तीसरे और अंतिम चरण में संपन्न होगा. दूसरे चरण में होने वाले चुनाव के सीटों में रोसड़ा, हसनपुर, विभूतिपुर, उजियारपुर और मोहिउद्दीन नगर शामिल हैं. चुनाव तो सभी जगह रोचक है लेकिन रोसड़ा विधानसभा का चुनाव अत्यंत ही रोचक हो गया है, वो इसलिए कि अब इस विधानसभा से अपने माथे पर जीत का सेहरा बांधने के लिए नेताजी भारी सभा मे अपना कुर्ता फाड़कर प्रतिज्ञा ले रहे हैं.

    रोसड़ा से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे नागेंद्र कुमार विकल के समक्ष विधानसभा चुनाव में रोसड़ा को जिला बनाने की मांग भी काफी जोर शोर से उठाया जा रहा है, ऐसे में कांग्रेस प्रत्याशी नागेंद्र कुमार विकल इस मुद्दे को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं. विकल ने अपने कार्यकर्त्ताओं के साथ रोसड़ा में आयोजित एक बैठक में अपना कुर्ता ये कहते हुए फाड़ दिया कि जब तक रोसरा को जिला के रूप में स्थापित नही करूंगा कुर्ता नहीं पहनूंगा, सिर्फ धोती ही पहनूंगा.



    कांग्रेस के प्रत्याशी द्वारा प्रतिज्ञा के साथ कुर्ता को फाड़कर शरीर से हटाना चर्चा का विषय बना है. जब नेताजी प्रण कर ही लिए तो भला कार्यकर्त्ता कहां पीछे रहने वाले थे उन्होंने भी अपने नेता के हौसले को बढ़ाने के लिए फूलों के माला गले मे डाल कर हौसला बढ़ाया और जिन्दाबााद के नारे लगाए. भाजपा के समस्तीपुर के जिला मंत्री और रोसरा सुरक्षित सीट के उम्मीदवार ने भी रोसड़ा को जिला का दर्जा दिलाने के संकल्प को दुहराते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वारा वर्ष 1998 से ही रोसड़ा को जिला का दर्जा दिया गया है और जब वह जीत के सदन में पहुंचेंगे तो इसे संवैधानिक रूप से मान्यता दिलाने का प्रयास करेंगे.
    इससे पूर्व भी कांग्रेस के रोसड़ा विधायक डॉ अशोक कुमार द्वारा रोसड़ा को जिला बनवाने का वादा किया गया था लेकिन वो अपने वादे को पूरा नहीं कर पाए और अपनी परंपरागत सीट को छोड़ दरभंगा के कुशेश्वरस्थान से अपनी किस्मत आज़मा रहे हैं, ऐसे में देखने वाली बात होगी कि महागठबंधन के कांग्रेस प्रत्याशी नागेंद्र कुमार विकल के द्वारा रोसड़ा को जिला बनाने के लिए कुर्ता फाड़कर जो भीष्म प्रतिज्ञा किया है उसका चुनाव पर क्या असर पड़ता है.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज