भोज खा रहे लोगों पर अपराधियों ने की फायरिंग, एक की मौके पर मौत और 2 गंभीर रूप से घायल
Samastipur News in Hindi

भोज खा रहे लोगों पर अपराधियों ने की फायरिंग, एक की मौके पर मौत और 2 गंभीर रूप से घायल
लाल घेरे में मृतक अमन कुमार अपने दोस्तों के साथ. वह प्राइवेट स्कूल में टीचर था. (फाइल फोटो)

मृतक के पिता भी इस भोज में शामिल थे. अपराधियों ने उनके सामने ही बेटे की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश मौके से फरार हो गए.

  • Share this:
समस्तीपुर. बिहार के समस्तीपुर जिले (Samastipur District) में एक बार फिर अपराधियों का तांडव देखने को मिला है. एक श्राद्धकर्म के भोज के दौरान चार से पांच की संख्या में आए अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग (Firing) कर एक शख्स की हत्या (Murder) कर दी. वहीं, दो लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए. गोलीबारी में जख्मी हुए दोनों लोगों का इलाज निजी क्लीनिक (Private clinic) में चल रहा है. मामला मुसरीघरारी के बरबट्टा सुगा पाकर गांव का है. कहा जा रहा है कि मंगलवार की देर रात सुगा पाकर गांव का इलाका गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंज उठा. अपराधियों के द्वारा इस कदर हमला किया गया कि लोगों को संभलने तक का मौका नहीं मिल पाया. चारों तरफ दहशत के बीच भगदड़ का माहौल बन गया.

जानकारी के मुताबिक, जिस वक्त गोलीबारी की यह वारदात हुई उस वक्त गांव के लोग पंगत में बैठ कर भोज खा रहे थे. उसी दौरान सामाजिक कार्यकर्त्ता और एक निजी विद्यालय में म्यूज़िक टीचर के रूप में कार्यरत अमन कुमार उर्फ बंटी अपनी गाड़ी से भोज खाने के लेने पहुंचा. तभी अचानक अपराधियों ने कार्रबाइन से हमला कर दिया. वारदात वाली जगह ही अमन की मौत हो गयी. वहीं, इस गोलीबरी  के दौरान भोज में लोगों को खाना ख़िला रहे एक शख्स और एक मेहमान गोली लगने से घायल हो गए, जिनका इलाज निजी अस्पताल में चल रहा है. जिस वक्त गोलीबारी की यह वारदात हुई, मृतक अमन के पिता महेश्वर राय मौके पर ही मौजूद थे. उनकी आंखों के सामने ही उनके जिगर के टुकड़े को अपराधियों ने गोली मारकर बेरहमी से हत्या कर दी. अमन के शरीर में कुल आठ गोली अपराधियों के द्वारा मारी गई थी.

उनके घर के पास एक पीसीसी सड़क का निर्माण चल रहा था
मृतक के पिता ने बताया कि उनके घर के पास एक पीसीसी सड़क का निर्माण चल रहा था. इसके ठेकेदार से गांव के ही अपराधी प्रवृत्ति के शशी राय और  ऋषि राय के द्वारा रंगदारी मांगी गई थी. इस मामले में अमन ने ठेकेदार से रंगदारी नहीं देने और अच्छी तरह सड़क बनाने की बात कही थी. जिस पर ऋषि राय और शशि राय के द्वारा जान मारने की धमकी भी दी गई थी. पिता का कहना है कि उसी दोनों ने अपने कुछ गुर्गों के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया है. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को भी ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा. बाद में काफी मशक्कत के बाद लोगों को समझा-बुझाकर मामला शांत कराया गया और शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया गया. हालांकि, पुलिस इस मामले में किसी को हिरासत में लिए जाने की बात से इंकार कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज