Assembly Banner 2021

रामचंद्र पासवान: ऐसे हुई थी चुनावी राजनीति में एंट्री

समस्तीपुर से सांसद रामचंद्र पासवान को पड़ा दिल का दौरा

समस्तीपुर से सांसद रामचंद्र पासवान को पड़ा दिल का दौरा

रामचंद्र पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के नेता और सांसद होने के साथ दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं. उनका जन्म 1 जनवरी 1962 को खगड़िया जिले के शहरबन्नी गांव में एक दलित परिवार में हुआ था.

  • Share this:
केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के छोटे भाई और समस्तीपुर से सांसद रामचंद्र पासवान की गुरुवार रात को तबीयत बिगड़ गई. बताया जा रहा है कि उन्हें हार्ट अटैक आया जिसके बाद उन्हें दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती करवाया गया. फिलहाल उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया है.

सांसद के अचानक गंभीर रूप से बीमार होने की खबर से  समस्तीपुर में उनके समर्थकों के द्वारा सलामती के लिए दुआ मांगी जा रही है. मिली जानकारी के मुताबिक केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, चिराग पासवान सहित उनके परिवार के सभी सदस्य इस वक्त अस्पताल में मौजूद हैं. वहीं पटना से भी लोक जनशक्ति पार्टी के कई नेता दिल्ली रवाना हो चुके हैं.

रामचंद्र पासवान लोक जनशक्ति पार्टी के नेता और सांसद होने के साथ दलित सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं. उनका जन्म 1 जनवरी 1962 को खगड़िया जिले के शहरबन्नी गांव में एक दलित परिवार में हुआ था. पत्नी सुनैना देवी से तीन संतान हैं जिमें दो पुत्र और एक पुत्री है.



केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के सांसद भाई रामचंद्र पासवान के अचानक गंभीर रूप से बीमार होने के बाद से पटना से लोक जनशक्ति पार्टी के कई नेता दिल्ली रवाना हो चुके हैं.

समस्तीपुर के सांसद रामचंद्र पासवान ने खगड़िया को-ऑपरेटिव बैंक के अध्यक्ष के चुनाव में 1998 में जीत हासिल करने के बाद अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत की थी.

परिसीमन से पूर्व समस्तीपुर जिला के रोसड़ा सुरक्षित सीट से वर्ष 1999 में सांसद चुने गए. फिर वर्ष 2004 में दोबारा जनता का विश्वास जीतने में कामयाब रहे. वर्ष 2009  में हुए लोकसभा चुनाव में उन्हें हार का सामना करना पड़ा जिसके बाद पुनः 2014 के लोकसभा चुनाव में समस्तीपुर लोकसभा सीट से जीत हासिल की .  2019 के संसदीय चुनाव में समस्तीपुर सुरक्षित लोकसभा सीट से पुनः निर्वाचित हुए.

 रिपोर्ट- मुकेश कुमार 

ये भी पढ़ें-

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज