मिथिला के किसानों को 5 लाख लीटर क्षमता वाले डेयरी की सौगात, मिठाई-लस्सी का भी होगा उत्पादन
Samastipur News in Hindi

मिथिला के किसानों को 5 लाख लीटर क्षमता वाले डेयरी की सौगात, मिठाई-लस्सी का भी होगा उत्पादन
बिहार के समस्तीपुर का डेयरी प्लांट

बिहार के समस्तीपुर में बने इस डेयरी प्लांट (Dairy Plant) का सीधा लाभ इलाके के तीन लाख किसानों को होगा. यहां रसगुल्ला, पेड़ा, गुलाब जामुन ,चमचम ,पनीर जैसी डेयरी उत्पाद भी बनेंगे.

  • Share this:
समस्तीपुर. बिहार में पशुपालन से जुड़े किसानों के लिए यह एक अच्छी खबर है. राज्य के समस्तीपुर  (Samastipur) जिला को चुनाव से ठीक पहले डेयरी की सौगात मिली है. जिले में मिथिला दुग्ध उत्पादक डेयरी (Dairy) सहकारी संघ लिमिटेड के प्रांगण में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से 5 लाख लीटर प्रतिदिन क्षमता वाला नवनिर्मित अत्याधुनिक डेयरी प्लांट का उद्घाटन किया गया. समस्तीपुर में कम्फेड की ओर से रोजाना 5 लाख लीटर दूध की प्रोसेसिंग इस डेयरी प्लांट में की जाएगी.

इस प्रोसेसिंग डेयरी प्लांट की खासियत है कि यहां बिना हाथ लगाए दूध का कलेक्शन गुणवत्ता जांच प्रोसेसिंग से लेकर पैकिंग का काम किया जाता है. मिथिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ लिमिटेड  समस्तीपुर डेयरी के एमडी धर्मेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि इस नवनिर्मित प्लांट को समस्तीपुर , दरभंगा एवं मधुबनी जिले के 3 लाख किसानों को समर्पित किया गया है. इस प्लांट के निर्माण से रसगुल्ला, पेड़ा, गुलाब जामुन ,चमचम ,पनीर लस्सी एवं मखाना खीर के साथ दुग्ध चूर्ण एवं सफेद बटर का उत्पादन आसानी से किया जाएगा.

समस्तीपुर डेयरी द्वारा राज्य सरकार के सहयोग से बनाए गए एक नए प्लांट की क्षमता 3 गुना से अधिक बढ़ाई गई है. रोजाना दूध संग्राहक करने से समस्तीपुर मधुबनी दरभंगा के 300000 से अधिक किसानों को इससे सीधा फायदा होगा. उनके दूध को यहां खरीदने एवं विभिन्न उत्पाद बनाने की क्षमता को विकसित की गई है. अभी मिथिला दूध उत्पादक सहकारी संघ से कई समितियां जुड़ी हुई हैं जिसने 400 महिलाओं की दूध समितियां है जिनमें 40000 महिलाएं जुड़ी हुई है और रोजाना दूध आपूर्ति का काम करती हैं. इसकी शुरुआत पर क्षेत्र के किसानों ने भी खुशी व्यक्त की है.



मिथिला दुग्ध उत्पादक सहकारी संघ राज्य सरकार के सहयोग से इस प्रोसेसिंग सिस्टम की स्थापना के बाद जहां किसानों में खुशी है वही मिथिला दुग्ध संघ के द्वारा दरभंगा में 300000 लीटर प्रति घंटा क्षमता वाले ऐसे ही प्लांट भी लगाया गया है जहां से पशुपालकों के लिए चारा-बीज का प्रसंस्करण और पैकिंग का काम शुरू किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज