Home /News /bihar /

civil hospital employee demanded 50000 rupees from poor father to give him his son dead body nodmk8

अस्पतालकर्मी बोला- 50 हजार दो और बेटे का शव ले जाओ, अब पैसे जुटाने के लिए मां-बाप मांग रहे भीख

बेटे का शव पाने के लिए 50 हजार रुपये इक्ट्ठा करने के लिए गरीब और लाचार मां-बाप गली-मोहल्ले में अपनी झोली फैला कर सबसे भीख मांग रहे हैं (फोटो साभार: ANI)

बेटे का शव पाने के लिए 50 हजार रुपये इक्ट्ठा करने के लिए गरीब और लाचार मां-बाप गली-मोहल्ले में अपनी झोली फैला कर सबसे भीख मांग रहे हैं (फोटो साभार: ANI)

Bihar News: पिता महेश ठाकुर ने अस्पतालकर्मी से अपने बेटे का शव उनके हवाले करने की बात कही तो उसने उनसे 50 हजार रुपये की मांग कर दी. मजबूर पिता ने अपनी गरीबी का हवाला दे कर इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जताई तो अस्पतालकर्मी ने उनको बेटे का शव देने से इनकार कर दिया. इसके बाद रकम जुटाने के लिए लाचार मां-बाप भरी दोपहरी में गली-मोहल्ले में अपनी झोली फैला कर सबसे भीख मांग रहे हैं

अधिक पढ़ें ...

समस्तीपुर. बिहार के समस्तीपुर (Samastipur) में इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है. यहां एक लाचार माता-पिता से अस्पतालकर्मी के द्वारा उनके बेटे का शव (Dead Body) देने के लिए मोटी रकम मांगी गई है. रुपये नहीं देने पर अस्पतालकर्मी ने उन्हें शव देने से इनकार कर दिया. घटना ताजपुर थाना क्षेत्र के कस्बे आहार गांव की है. मिली जानकारी के मुताबिक महेश ठाकुर का 25 वर्षीय बेटा बीते 25 मई से घर से लापता हो गया था. उसके परिवारवालों ने उसकी काफी खोजबीन की लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला. फिर उन्होंने सोशल मीडिया से माध्यम से भी उसे ढूंढने की कोशिश की.

सात जून को घरवालों को सूचना मिली की मुसरीघरारी थाना क्षेत्र में पुलिस ने एक अज्ञात युवक का शव बरामद किया है. यह पता चलते ही वो मुसरीघरारी थाना पहुंचे. यहां उन्हें बताया गया कि शव को पोस्टमॉर्टम के लिए समस्तीपुर सदर अस्पताल भेज दिया गया है तो वो सदर अस्पताल पहुंचे. यहां पोस्टमॉर्टम कर्मचारी ने पहले तो शव दिखाने में आना-कानी की, लेकिन बाद में काफी गुहार लगाने पर पिता महेश ठाकुर को शव दिखाया. शव देख कर उन्होंने उसकी पहचान अपने बेटे संजीव ठाकुर के रूप में की.

महेश ठाकुर ने अस्पतालकर्मी से शव को उनके हवाले करने की बात कही तब उसने उनसे 50 हजार रुपये की मांग की. मजबूर पिता ने अपनी गरीबी का हवाला दे कर इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जताई तो अस्पतालकर्मी ने उनको बेटे का शव देने से इनकार कर दिया. इसके बाद रकम जुटाने के लिए लाचार मां-बाप भरी दोपहरी में गली-मोहल्ले में अपनी झोली फैला कर सबसे भीख मांग रहे हैं. बूढ़े मां-बाप को यूं अपने बेटे के शव के लिए भटकते देख लोग सिस्टम और सरकार को कोस रहे हैं. लोगों ने बताया कि यह परिवार बहुत गरीब है, वो अपने बेटे का अंतिम संस्कार तक करने में असमर्थ हैं. मोहल्ले और आस-पास के लोग उनकी मदद के लिए हाथ बढ़ा रहे हैं.

इस बारे में पूछने पर सिविल सर्जन डॉ. एस.के चौधरी ने कहा कि उन्हें मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी मिली है. यह मानवता को शर्मसार करने वाली घटना है. इसकी जांच कराने के बाद दोषी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Bihar News in hindi, Bribe news, Corruption news, Government Hospital, Samastipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर