लाइव टीवी

समस्तीपुर लोकसभा उपचुनाव: स्वर्णिम अतीत को संजोए विकास की बाट जोहता क्षेत्र

News18 Bihar
Updated: October 15, 2019, 8:44 PM IST
समस्तीपुर लोकसभा उपचुनाव: स्वर्णिम अतीत को संजोए विकास की बाट जोहता क्षेत्र
चुनावी सभा के दौरान लोक जनशक्ति पार्टी के प्रत्याशी प्रिंस राज (बाएं)

उपचुनाव में एनडीए समर्थित लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के दिवंगत सांसद रामचंद्र पासवान के बेटे प्रिंस राज (Prince Raj) और कांग्रेस डॉ अशोक कुमार (Ashok Kumar) के बीच मुख्य मुकाबला है.

  • Share this:
समस्तीपुर. मिथिलांचल (Mithilanchal) के प्रवेश द्वार कहे जाने वाले समस्तीपुर (Samastipur) अपने गौरवशाली और समृद्ध इतिहास को सहेजते हुए हर रोज विकास की नई इबारत लिख रही है. इसके बावजूद कई मामले में यह क्षेत्र आज भी किसी विकास पुरुष की बाट जो रहा है. अभी 4 महीने भी ठीक से नहीं पूरे हुए और समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र को सांसद रामचंद्र पासवान (Ram Chandra Paswan) के असामयिक निधन के कारण उपचुनाव (By Election) का सामना करना पड़ रहा है.

21 अक्टूबर को होगा मतदान
समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र में 21 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे. मतों की गिनती 24 अक्टूबर को होगी.  एनडीए समर्थित लोक जनशक्ति पार्टी के प्रिंस राज और कांग्रेस डॉ अशोक कुमार के बीच मुख्य मुकाबला है.

समस्तीपुर लोकसभा में हैं 6 विधानसभा क्षेत्र 

समस्तीपुर लोकसभा (सुरक्षित) सीट के अंतर्गत 6 विधानसभा क्षेत्र आते हैं जिसमें समस्तीपुर जिले के चार और दरभंगा जिले के 2 विधानसभा क्षेत्र हैं. समस्तीपुर के चार विधानसभा क्षेत्रों में समस्तीपुर, कल्याणपुर, वारिसनगर और रोसरा शामिल है जबकि दरभंगा के हायाघाट और कुशेश्वर स्थान शामिल है. समस्तीपुर सुरक्षित लोकसभा क्षेत्र में बूढ़ी गंडक, बागमती, करेह, बलान और उसकी कई सहायक नदियां बहती है. कभी इलाके में कई बड़े उद्योग हुआ करते थे जो हजारों हाथों को काम और उनके परिवार को  रोटी देने का काम करता था. वह अब पूरी तरह से दम तोड़ चुके हैं. समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र का आधा क्षेत्र बाढ़ से प्रभावित है तो आधा क्षेत्र सुखा से प्रभावित रहता है.

खंडहर में तब्दील हो चुके हैं समस्तीपुर के कई मिल
एक समय था जब समस्तीपुर में जूट मिल, पेपर मिल और चीनी मिल सहित कई बड़े उद्योग थे और यह यहां के लोगों के रोजगार के साधन थे. लेकिन इन उद्योगों के बंद हो जाने से क्षेत्र में बेरोजगारी की समस्या बढ़ गई. 1917 में स्थापित समस्तीपुर का चीनी मिल 90 के दशक के बाद से लगातार बंद और खंडहर में तब्दील होता जा रहा है. वहीं रामेश्वर जूट मिल पिछले 2 साल से बंद है. चीनी मील और जूट मिल की तरह एक पेपर मिल के कुछ अवशेष मात्र ही बचे हैं.
Loading...

समस्तीपुर स्थित ठाकुर पेपर मिल के भग्नावशेष
समस्तीपुर स्थित ठाकुर पेपर मिल के भग्नावशेष


उपचुनाव में 8 प्रत्याशी मैदान
समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र में हो रहे उपचुनाव में कुल 8 प्रत्याशी मैदान में हैं. जिनमें एनडीए समर्थित लोक जनशक्ति पार्टी के दिवंगत सांसद रामचंद्र पासवान के बेटे प्रिंस राज और कांग्रेस डॉ अशोक कुमार के बीच मुख्य मुकाबला है. इससे पूर्व हुए लोकसभा चुनाव में रामचंद्र पासवान को 562443 वोट और कांग्रेस के डॉ अशोक कुमार को 310800 वोट प्राप्त हुए थे. रामचंद्र पासवान ने डॉ अशोक कुमार को 251643 वोट के अंतर से शिकस्त दी थी.

16 लाख वोटर करेंगे मताधिकार का प्रयोग
उपचुनाव में 16,36,983 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिसमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 8,70,329 और महिला मतदाताओं की संख्या 7,66,628 है. वही थर्ड जेंडर वोटर की संख्या 26 है. जातीय समीकरण के आधार पर समस्तीपुर लोकसभा क्षेत्र को देखें तो यहां यादव मतदाता 32%, कुशवाहा मतदाता 24 प्रतिशत, सवर्ण वोटर 18 प्रतिशत, मुस्लिम वोटर 12 प्रतिशत और अन्य  वर्ग के मतदाता 14 प्रतिशत हैं.

बहरहाल, एनडीए समर्थित लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार प्रिंस राज जहां दिवंगत सांसद और अपने पिता के अधूरे सपने को साकार करने के बात को लेकर जनता के बीच जा रहे हैं, वहीं उनके प्रतिद्वंदी कांग्रेस के डॉ. अशोक कुमार का कहना है कि अब तक समस्तीपुर संसदीय क्षेत्र के समस्याओं को लेकर मजबूती के साथ आवाज उठाने वाला कोई नहीं हुआ और इन्हीं सवालों को लेकर वह जनता के बीच जा रहे हैं.

(रिपोर्ट- मुकेश कुमार)

ये भी पढ़ें-

गांधी संकल्प यात्रा में नित्यानंद राय ने BJP कार्यकर्ताओं के दिया ये संदेश

नीतीश सरकार लॉ एंड ऑर्डर के मामले में सजग: नित्यानंद राय

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए समस्तीपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 15, 2019, 8:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...