Home /News /bihar /

record made in weight holding while doing chakrasana name of prince from samastipur recorded in asia book of records brvj

चक्रासन करते हुए वेट होल्डिंग में बनाया रिकॉर्ड, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हुआ समस्तीपुर के प्रिंस का नाम

समस्तीपुर के युवक प्रिंस ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करवाया है.

समस्तीपुर के युवक प्रिंस ने अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज करवाया है.

Bihar News: समस्तीपुर जिले के एक युवा प्रिंस ने चक्रासन करते हुए वेट होल्डिंग में रिकॉर्ड तोड़ते हुए अपना नाम एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज करवाया है. अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए प्रिंस ने 60 सेकेंड में 140.6 kg चक्रासन के दौरान पेट पर वजन उठाकर रिकॉर्ड बनाया है.

अधिक पढ़ें ...

समस्तीपुर. अलग-अलग क्षेत्रों में अपनी प्रतिभा के बल पर बिहार के कई युवा अपना ही नहीं प्रदेश का भी नाम रोशन कर रहे हैं. एक बार फिर समस्तीपुर के खानपुर प्रखंड के रहने वाले एक युवक ने ऐसी उपलब्धि हासिल की है कि उनपर हर किसी को गर्व हो रहा है. समस्तीपुर जिले के एक युवा ने अपना नाम एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में दर्ज कराकर समस्तीपर के साथ ही पूरे बिहार प्रदेश का मान बढ़ाया है. चक्रासन में पेट पर वेट होल्डिंग विश्व रिकॉर्ड का कीर्तिमान बनाने के लिए एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में समस्तीपुर जिला के खानपुर प्रखंड के रहने वाले प्रिंस कुमार का नाम दर्ज हुआ है.

बता दें कि इससे पूर्व 12 मार्च 2022 इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में भी नाम दर्ज हो चुका है. समस्तीपुर के इस युवक ने उड़ीसा के सौम्या रंजन राउत वेट होल्डिंग 1 मिनट 39 सेकंड के 30 किलो वजन उठाने का रिकॉर्ड के विरुद्ध इन्होंने 118.15 kg 60 सेकंड में उठार रिकॉर्ड कायम किया था. अब अपना ही रिकॉर्ड तोड़ते हुए प्रिंस ने 12 मई 2022 को एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराया. उन्होंने 60 सेकेंड में 140.6 kg चक्रासन करते हुए पेट पर वजन उठाकर रिकॉर्ड बनाया है.

प्रिंस ने इसकी शुरुआत समस्तीपुर से ही की थी. प्रिंस का सपना है कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड में भी अपना नाम दर्ज करवा सके. इसके लिए वह जी तोड़ मेहनत कर रहे हैं. प्रिंस मूलतः समस्तीपुर जिले के खानपुर प्रखंड के गोटियाही गांव के रहनेवाले हैं. उन्होंने बताया कि वह बचपन से योग व कराटे का अभ्यास करते आ रहे हैं.

प्रिंस के अनुसार, इसके बाद जिम्नास्टिक एंड पार्कर, वुशू, मिक्स मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया. उन्होंने इंटर कॉलेज टूर्नामेंट में कराटे में कांस्य पदक और वूशु में सिल्वर मेडल लिया था. अब वह गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम करवाने के लिए अभ्यास कर रहे हैं.

उन्होंने बताया कि अगर युवा इसे अपने करियर के तौर पर चुने तो वो फिट रहने और लोगों को फिट रखने के साथ-साथ अपनी जिंदगी में इसे अपनाकर सफल और उज्जवल करियर भी बना सकते हैं. देश का मानना है कि बिहार में अभी भी खेल के प्रति लोगों में वह जागरूकता नहीं आई है. जरूरत है यहां के लोगों में खेल के प्रति नजरिया बदलने की.

Tags: Bihar News, Samastipur news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर