दिल्ली पुलिस की वर्दी, शराब और दो वाहनों से शातिर बदमाश ऐसे करते थे लाखों की ठगी, 6 आरोपी गिरफ्तार

समस्तीपुर पुलिस ने पांच शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है जो बिहार में ठगी और लूट करते थे.
समस्तीपुर पुलिस ने पांच शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है जो बिहार में ठगी और लूट करते थे.

समस्तीपुर पुलिस (Samastipur Police) ने जांच के दौरान पांच शातिर बदमाशों को गिरफ्तार किया है. इनसे पूंछताछ में लूट (Loot) और ठगी के बिल्कुल तरीके का खुलासा हुआ है. इस गिरोह में कारीब दस लोग एक साथ काम करते थे. पुलिस (Police) अन्य आरोपियों को तलाश में छापेमारी कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 7, 2020, 8:19 PM IST
  • Share this:
समस्तीपुर. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को देखते हुए राज्य में आचार संहिता लागू है. इसको लेकर हर जगह पुलिस सघन जांच कर रही है. वहीं समस्तीपुर पुलिस ने वाहन चेकिंग के दौरान दिल्ली पुलिस की वर्दी के साथ एक लुटेरा गिरोह के छह सदस्यों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लुटेरों के पास से दिल्ली पुलिस की वर्दी, लाइसेंसी पिस्टल, 16 गोली, दो डंडे, एक एक्सयूवी कार, वाहन में लिखा पुलिस का बोर्ड, सात मोबाइल, एक शराब की पेटी और 20 हजार रुपये नगद बरामद किया है.

एनएच 28 पर चलाए जा रहे वाहन चेकिंग के दौरान समस्तीपुर पुलिस ने शक के आधार पर एक्सयूवी कार और मिनी ट्रक को पूछताछ के लिए बांगरा एनएच 28 थाना के मुर्गियाचक धर्मकांटा के पास रोका. पुलिस ने देखा कि एक्सयूवी कार में 5 लोग सवार थे. वहीं मिनी ट्रक पर एक ड्राइवर सवार था. समस्तीपुर पुलिस की टीम के द्वारा एक्सयूवी कार की जब तलाशी ली गई तो दिल्ली पुलिस की वर्दी, एक पिस्तौल और 16 गोली बरामद की गई. वर्दी को लेकर जब पुलिस के द्वारा पूछताछ की गई तो वाहन में सवार लोगों के द्वारा बताया गया कि आईटीबीपी से रिटायर हैं, परंतु बरामद वर्दी दिल्ली पुलिस की थी. इस पर पुलिस ने सभी को हिरासत में लेकर पूंछताछ की.

हाथरस कांडः नेताओं और पत्रकारों पर देशद्रोह से लेकर दंगा फैलाने तक के केस, 10 बिंदुओं में जानें पूरा मामला



लाखों रुपये की ऐसे करते थे ठगी
इसमें पता चला कि दोनों गाड़ी एक दूसरे से जुड़ी हुई हैं और इस गिरोह की बड़ी टीम है, जो इस क्षेत्र में हाईवे पर शराब का प्रलोभन देकर बड़ी रकम लूटते हैं. इस गैंग के साथ एक क्रेटा गाड़ी भी थी, जिस पर दो अन्य अपराधी सवार थे. इनके पकड़े जाने के बाद वो मौके से फरार हो गए. समस्तीपुर सदर डीएसपी प्रीतिश कुमार ने बताया कि इस गैंग के साथ पूछताछ के दौरान एक नए अपराधिक चाल का खुलासा हुआ है.

ये लोग सैंपल के रूप में शराब दिखाते थे. फिर कहते थे कि यह ट्रक शराब से भरा है और किसी लाइन होटल या अन्य स्थान पर शराब कारोबारी से ट्रक का रेट 05 से 10 लाख रुपये में तय करके कारोबारी को बेच देते थे, जिसका पैसा टीम ले लेती थी. इसके बाद पुलिस लिखी एक्सयूवी कार से पुलिस के वेश में उस वाहन का पीछा कर गिरोह के सदस्य वाहन को रोक लेते थे. ऐसे में शराब खरीदने वाला आदमी इसे छोड़कर भाग जाता था.

यूपी और दिल्ली के हैं अधिकतर बदमाश
इसके बाद बदमाश ट्रक को अपने कब्जे में ले लेते थे. समस्तीपुर पुलिस की गिरफ्त में आए लुटेरा गिरोह के सदस्यों में अवधेश कुमार जो उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले का रहने वाला है. वहीं ओमप्रकाश सोलंकी जो नई दिल्ली के बहादुरपुर थाना के बदरपुर इलाके का है. इस गिरोह में शामिल मोहम्मद आलम जो सीतामढ़ी जिले का रहने वाला है. वहीं राजकुमार और हेमंत कुमार नई दिल्ली के बदरपुर इलाके का रहने वाला है. वहीं पुलिस ने एक कंटेनर चालक को गिरफ्तार किया है, जिसकी पहचान विनोद कुमार के रूप में की गई है, जो औरंगाबाद जिला के दाउदपुर का रहने वाला है. समस्तीपुर से जुड़े सदस्य की तलाश में छापेमारी शुरू की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज