तेजस्वी बोले- नीतीश ने कोरोना में लोगों को बिहार आने से रोका था, अब जनता उन्हें विधानसभा जाने से रोकेगी

लोगों ने तेजस्‍वी यादव और नीतीश कुमार पर निशाना साधा.
लोगों ने तेजस्‍वी यादव और नीतीश कुमार पर निशाना साधा.

तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) समस्तीपुर में मंगलवार को अपने भाई तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के नामांकन में भाग लिया और कहा कि इस बार हसनपुर की जनता मेरे भाई को चुनाव में विजय श्री का माला पहनाएगी.

  • Share this:
समस्तीपुर. बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और लालू प्रसाद यादव के छोटे बेटे तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने कहा है कि जिस तरह से सीएम नीतीश कुमार (Nitish Kumar) कोरोना काल में बिहार के लोगों को ही बिहार में घुसने नहीं दे रहे थे वैसे ही बिहार की जनता भी इस बार नीतीश कुमार को विधानसभा में घुसने नहीं देगी. अपने बड़े भाई और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेजप्रताप यादव (Tej Pratap Yadav) के नामांकन में भाग लेने पहुंचे तेजस्वी ने ये बातें जिले के रोसड़ा में तेजप्रताप यादव के नामांकन के बाद आयोजित जनसभा में कही.

नामांकन के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि विधानसभा चुनाव के बाद बिहार में महागठबंधन की सरकार बननी तय है. उन्होंने कहा कि हसनपुर के मतदाताओं पर हमको पूरा भरोसा है कि वो मेरे बड़े भाई तेजप्रताप यादव को विजयी बनाकर सदन में भेजने का काम करेंगे. नामांकन के बाद जब पत्रकारों ने तेजप्रताप यादव से सवाल किया तो उन्होंने सिर्फ हसनपुर के जनता पर चुनाव परिणाम देने की बात कह चुप्पी साध ली. नामांकन के दौरान राष्ट्रीय जनता दल और तेजप्रताप के समर्थक इतने उत्साहित थे कि उनके सामने सुरक्षा घेरा भी कमजोर पड़ गया. स्थानीय पुलिस प्रशासन के रोकने के बावजूद भी मुख्य प्रवेश द्वार पर लगा सुरक्षा घेरा टूट गया.

इससे पहले विधानसभा चुनाव को लेकर बने नामांकन केंद्र पर हसनपुर विधानसभा क्षेत्र से तेजप्रताप ने अपना नामांकन दाखिल किया. इस दौरान तेजस्वी यादव, भोला यादव, आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह, आलोक कुमार मेहता सहित कई बड़े राजद नेता मौजूद रहे. तेजप्रताप यादव के नामांकन में शामिल होने के लिए नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव हेलीकॉप्टर से हसनपुर के मंगल गढ़ पहुंचे थे, जहां पर खुद पहुंचकर तेजप्रताप यादव ने तेजस्वी यादव की अगवानी की और फिर वहां से साथ होकर दोनों भाई नॉमिनेशन करने के लिए रोसड़ा अनुमंडल कार्यालय पहुंचे. इस दौरान सैकड़ों के तादात में समर्थक भी उनके साथ मौजूद रहे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज