लाइव टीवी

STET परीक्षा के दौरान गया-समस्तीपुर केंद्रों पर स्‍टूडेंट्स का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज
Gaya News in Hindi

arun kumar | News18 Bihar
Updated: January 28, 2020, 4:23 PM IST
STET परीक्षा के दौरान गया-समस्तीपुर केंद्रों पर स्‍टूडेंट्स का हंगामा, पुलिस ने किया लाठीचार्ज
एसटीइटी परीक्षा के दौरान परीक्षार्थियों का हंगामा.

गया (Gaya) और समस्तीपुर में एसटीईटी परीक्षा (STET Exam) के दौरान परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा किया. जबकि इस हंगामे को शांत करने के लिए पुलिस का लाठीचार्ज भी करना पड़ा.

  • Share this:
गया/समस्तीपुर. गया (Gaya) और समस्तीपुर में एसटीईटी परीक्षा (STET Exam) के दौरान परीक्षार्थियों का हंगामा देखने को मिला. जबकि पुलिस ने लाठीचार्ज कर भीड़ को तितर-बितर किया. समस्तीपुर (Samastipur) में परीक्षा केंद्र पर देर से पहुंचने पर प्रवेश नहीं मिले नाराज परीक्षार्थियों ने परीक्षा केंद्र के बाहर सड़क जाम कर दी, जिससे यातायात व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई. जबकि गया के जिला स्कूल परीक्षा केन्द्र के दो क्लासरूम के एसटीईटी परीक्षार्थियों ने समाहरणालय के पास सड़क जाम कर पूरी परीक्षा को रद्द करने की मांग की. इन परीक्षार्थियों का आरोप है कि उनके क्लासरूम में काफी देर से सील टूटा हुआ प्रश्नपत्र दिया गया.

 
राहगीरों और परीक्षार्थियों के बीच नोकझोंक
समस्तीपुर में सड़क जाम करने को लेकर राहगीरों और परीक्षार्थियों में नोकझोंक भी देखने को मिली. परीक्षार्थियों का आरोप है कि वह परीक्षा केंद्र पर 9:30 बजे पहुंचे थे, लेकिन पूरे शहर में जाम की स्थिति होने के कारण परीक्षा केंद्र पर थोड़ी देर से पहुंचे और उन्हें केंद्र में घुसने से रोक दिया गया. इसके बाद परीक्षार्थियों ने समस्तीपुर के गर्ल्स हाई स्कूल काशीपुर और तिरहुत एकेडमी परीक्षा केंद्र के बाहर परीक्षार्थियों ने सड़क जाम कर घंटों बवाल काटा. पहले पुलिस ने उन लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन जब परीक्षार्थियों नहीं माने तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया. जबकि विधि व्यवस्था भंग करने को लेकर पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में भी लिया है. इस मामले में सदर एसडीओ एके मंडल का कहना है कि परीक्षार्थी देर से परीक्षा केंद्र पर पहुंचे थे जिस कारण उन्हें प्रवेश से रोक दिया गया.

गया में इस वजह से हुआ हंगामा
गया के जिला स्कूल परीक्षा केन्द्र के दो क्लासरूम के एसटीईटी परीक्षार्थियों ने जमकर हंगामा किया.परीक्षार्थियों का आरोप है कि उनके क्लासरूम में काफी देर से सील टूटा हुआ प्रश्नपत्र दिया गया. महिला परीक्षार्थी सुधा कुमारी ने बताया कि वे लोग नीचे के हॉल में थे, जहां काफी विलंब से प्रश्नपत्र दिया और बंडल की सील भी टूटी हुई थी, जिससे परीक्षार्थियों को प्रश्नपत्र आउट होने की आंशका हुई. इसके बाद उन लोगों ने गेट एवं ताले को पत्थर मारकर तोड़ने की भी कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली. इस बीच परीक्षा केन्द्र पर लाउडस्पीकर के जरिये शांत होकर परीक्षा में शामिल होने का आग्रह किया जाता रहा. समाहरणालय के पास महिला परीक्षार्थी के सड़क जाम से आन-जाने वाले राहगीर को काफी परेशानी हुई और कई राहगीर से इन परीक्षार्थियों की तीखी बहस भी हुई.

 परीक्षा केन्द्र प्रभारी ने कही ये बात
इस मुद्दे पर जिला स्कूल के प्रचार्य सह परीक्षा केन्द्र प्रभारी सुदर्शन सिंह ने कहा कि प्रश्नपत्र मिलने में 10 मिनट की देरी हुई थी और इसके लिए परीक्षार्थियों को अतिरिक्त समय देने का आश्वासन भी दिया गया था, लेकिन 10 से 15 परीक्षार्थियों ने हंगामा करते हुए दूसरे के प्रश्नपत्र को भी फाड़ दिया और पूरे सेंटर को बाधित करने की कोशिश की. महिला पुलिसकर्मियों की कम संख्या की वजह से हंगामा को शांत कराने मे परेशानी हुई.

 

ये भी पढ़ें-

RJD ने फिर जारी किया पोस्टर, नीतीश-मोदी पर लगाया बिहार को तोड़ने का आरोप

 

CAA विरोध पर बोले सुशील मोदी- प्रदर्शन में एक समुदाय के 99% लोग शामिल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 28, 2020, 4:19 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर