होम /न्यूज /बिहार /

छपरा में जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या 8 हुई, एक पखवारे में 13 मौत

छपरा में जहरीली शराब पीकर मरने वालों की संख्या 8 हुई, एक पखवारे में 13 मौत

बिहार के छपरा में जहरीली शराब से 8 लोगों की मौत हो चुकी है (मृतकों के परिजन)

बिहार के छपरा में जहरीली शराब से 8 लोगों की मौत हो चुकी है (मृतकों के परिजन)

Chapra Hooch Tragedy: बिहार के छपरा जिले में जहरीली शराब से हो रही मौत का सिलसिला जारी है. जहरीली शराब ने अब तक 8 लोगों की जान ली है, जबकि कई लोग अभी भी शराब पीकर बीमार हैं और उनका इलाज चल रहा है.

हाइलाइट्स

बिहार के छपरा में जहरीली शराब के कारण लोगों की लगातार मौत हो रही है
जहरीली शराब से हो रही मौतों के लिए बीजेपी सांसद ने नीतीश सरकार पर सवाल खड़े किए हैं
जहरीली शराब से बीमार हुए कुछ लोगों का इलाज पीएमसीएच पटना में चल रहा है

छपरा. बिहार में एक बार फिर से जहरीली शराब ने कहर बरपाया है. छपरा जिले में जहरीली शराब पीने से हुई मौत का आंकड़ा 8 तक पहुंच गया है जबकि महज 10 दिन पहले ही मेकर में जहरीली शराब के कारण 13 लोगों की मौत हुई थी और दर्जन भर लोग अपनी आंखों की रोशनी गंवा चुके हैं. सारण में एक पखवाड़े के अंदर जहरीली शराब कांड के दो बड़े मामले सामने आए हैं जिसके बाद शराबबंदी को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं.

भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस घटना को लेकर सवाल पूछा है और कहा है कि शराबबंदी कहां है. उन्होंने कहा कि जितने लोग सीमा पर शहीद नहीं हो रहे हैं उससे ज्यादा लोग शराब पीकर बिहार में मर रहे हैं. यह काफी गंभीर चिंता का विषय है. गौरतलब है कि सारण जिले के मढौरा थाना क्षेत्र में शराब से मौत का मामला सामने आया है, जहां अब तक 8 मौतें हो चुकी है और कुछ लोग गैस्पिंग में बताए जा रहे हैं, जिन्हें पीएमसीएच रेफर किया गया है.

दर्जन भर लोग बीमार चल रहे हैं. मृतकों में गड़खा थाना क्षेत्र के औढा गांव निवासी स्वर्गीय कमरुद्दीन खान के 40 वर्षीय पुत्र अलाउद्दीन खां, मढौरा थाना क्षेत्र के भुआलपुर गांव निवासी रामा सिंह का 45 वर्षीय पुत्र पप्पू सिंह, देव महतो का 55 वर्षीय पुत्र कामेश्वर महतो, स्वर्गीय प्रभुनाथ राम के 55 वर्षीय पुत्र राम जीवन राम, भभीखन सिंह के 38 वर्षीय पुत्र रोहित कुमार सिंह, स्वर्गीय कैलाश राय का 62 वर्षीय पुत्र हीरा राय, स्वर्गीय सुखन साह का 60 वर्षीय पुत्र लाल बाबू साह एवं मुबारक पुर निवासी भीषम राय शामिल हैं. वही द्वारिका महतो के 55 वर्षीय पुत्र रामनाथ महतो तथा नायक महतो के 60 वर्षीय पुत्र रामचंद्र राय का उपचार छपरा सदर अस्पताल में चल रहा है.

मुबारकपुर निवासी भीष्म यादव की मौत शराब पीने से हो गई. मृतक के चचेरे भाई श्रवण राय ने बताया कि मृतक ससुराल अपनी भाभी के साथ रक्षाबंधन में गया था और वहीं पर उसकी तबीयत बिगड़ी जिसके बाद उसने अपने चचेरे भाई को कॉल करके बुलाया और घर आने  की बात कही. घर आने के क्रम में ही अमनौर बाजार पर अचानक तबियत बिगड़ी और पानी पीने के लिए रुकवाया देखते ही देखते युवक की स्थिति काफी खराब हो गई और उसे अमनौर पीएचसी में भर्ती कराया गया जहां ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक में सदर अस्पताल रेफर कर दिया. सदर अस्पताल आने के बाद ड्यूटी पर तैनात चिकित्सक और हर्षित राज ने उसे मृत घोषित कर दिया. पूछताछ में भीष्म यादव ने बताया था कि उसने भी भुवालपुर में शराब का सेवन किया था.

Tags: Bihar News, Chapra news, Poisonous liquor case, Saran News

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर