छपरा: दारोगा-कांस्टेबल हत्याकांड में जिला परिषद की अध्यक्ष मीना अरूण गिरफ्तार

पुलिस जिला परिषद अध्यक्ष को गिरफ्तार करने के बाद छपरा नगर थाना लाई है और फिहलाल छपरा के एसपी हर किशोर राय उनसे पूछताछ कर रही है.

News18 Bihar
Updated: August 26, 2019, 4:37 PM IST
छपरा: दारोगा-कांस्टेबल हत्याकांड में जिला परिषद की अध्यक्ष मीना अरूण गिरफ्तार
छपरा के मढ़ौरा में हुई दो पुलिसवालों की हत्या में पुलिस को जिला परिषद अध्यक्ष की तलाश थी
News18 Bihar
Updated: August 26, 2019, 4:37 PM IST
बिहार के छपरा (Chapra) में दारोगा मिथलेश साव और कांस्टेबल की हत्या (Sub-Inspector Murder Case) के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने इस हाई प्रोफाइल मामले की मुख्य आरोपी मीना अरुण (Mina Arun) को गिरफ्तार किया गया है. मीना अरूण की गिरफ्तारी छपरा स्थित जिला परिषद (Jila Parishad) कार्यालय से हुई है. पुलिस के हत्थे चढ़ी मीना अरूण छपरा की जिला परिषद अध्यक्ष हैं, उनको छपरा के सदर डीएसपी (Dy SP) अजय कुमार ने गिरफ्तार किया. इससे पहले हत्या के इस मामले में एक अन्य आरोपी अभिषेक सिंह ने कोर्ट (Court) में सरेंडर (Surrender) किया था.

20 अगस्त को हुई थी हत्या

पुलिस जिला परिषद अध्यक्ष को गिरफ्तार करने के बाद छपरा नगर थाना लाई है और फिहलाल छपरा के एसपी हर किशोर राय उनसे पूछताछ कर रही है. मालूम हो कि 20 अगस्त को छपरा के मढौरा में पुलिस टीम पर अपराधियों ने अंधाधुंध फायरिंग की थी. फायरिंग में दारोगा मिथिलेश कुमार को गोली लगी थी और उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया. उनके साथ ही सिपाही फारूक अहमद और संजीव कुमार भी जख्मी हुए जिसमें फारूक अहमद की मौत हो गई थी. इस घटना ने पूरे पुलिस महकमे को सन्न कर दिया था.

डीजीपी ने दिया था कार्रवाई का भरोसा

अपने दो सहयोगियों की मौत के बाद खुद डीजीपी ने जाकर उनको श्रद्धांजलि दी थी और हर हाल में दोषियों की गिरफ्तारी करा भरोसा दिलाया था. इस एनकाउंटर के बाद पुलिसिया व्यवस्था पर भी सवाल उठे थे क्योंकि अपराधियों ने हत्याकांड को अंजाम देने के बाद एक एके-47 राइफल और दारोगा की सर्विस पिस्टल भी लूट थी.

छपरा के शहीद दारोगा मिथिलेश कुमार


सीबीआई जांच की उठी थी मांग
Loading...

मृतक दारोगा के परिजनों ने इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी जिसे डीजीपी ने ठुकरा दिया था. बताया जा रहा है था कि शहर में अपराधी जिला परिषद अध्यक्ष के रिश्तेदार की हत्या की साजिश रचने के बाद इसे पूरा करने के मकसद से आए थे. पुलिस की एसआईटी टीम इसी इनपुट की सूचना पर अपराधियों की धरपकड़ लिए जाल बिछाया था.

राजनीतिक रसूख वाली है गिरफ्तार महिला नेत्री

दारोगा हत्याकांड में जिस महिला नेत्री को गिरफ्तार किया गया है वो जिला परिषद अध्यक्ष हैं. उनके परिवार पर हमले हो चुके हैं और इस तरह के हमले में ही चुनाव आयोग के एक अधिकारी की जान चली गई थी.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 26, 2019, 1:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...