बिहार में भी 'अनामिका शुक्‍ला कांड', इस्‍तीफा देने के बावजूद 3 साल तक वेतन उठाती रहीं फर्जी टीचर
Saran News in Hindi

बिहार में भी 'अनामिका शुक्‍ला कांड', इस्‍तीफा देने के बावजूद 3 साल तक वेतन उठाती रहीं फर्जी टीचर
जिला शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार सिंह का कहना है कि आरोपी शिक्षिका से विभाग पूरे पैसे वसूल करेगा. (सांकेतिक फोटो)

शिक्षा विभाग ने शिक्षिका चंदा कुमारी (Chanda Kumari) और तत्कालीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी समेत तीन लोगों के खिलाफ मशरक थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी है.

  • Share this:
छपरा. शिक्षा विभाग (Education Department) में बड़ा घोटाला सामने आया है. यहां अधिकारियों की मिलीभगत से एक फर्जी शिक्षिका (Fake Teacher) ने पहले इस्तीफा दिया और उसके बाद में 3 साल तक वेतन उठाती रही. इस दौरान इस शिक्षिका ने विभाग को लगभग 10 लाख का चूना लगा दिया, लेकिन विभाग को इसकी भनक तक नहीं लगी. जब स्थानीय लोगों ने शिक्षा विभाग के पास यह शिकायत की तो विभाग ने जांच शुरू की गई. रिपोर्ट से विभाग भी हैरत में है.

विभाग ने शिक्षिका चंदा कुमारी (Chanda Kumari) और तत्कालीन प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी समेत तीन लोगों के खिलाफ मशरक थाने में प्राथमिकी दर्ज करा दी है. बताया जा रहा है कि आरोपी शिक्षिका चंदा कुमारी मशरक प्रखंड के जजौली उत्क्रमित मध्य विद्यालय में टीचर के तौर पर पदस्थापित थी, लेकिन सर्टिफिकेट फर्जी होने के कारण उन्हें इस्तीफा देना पड़ा. इस्तीफा देने के बाद भी वह 3 साल तक वेतन उठाती रही. हाल ही में उत्तर प्रदेश में शिक्षा विभाग में अनामिका शुक्ला कांड काफी चर्चा में आया था. अब छपरा के इस कांड में यहां के सिस्टम पर भी सवाल खड़ा कर दिया है.

आरोपी शिक्षिका से विभाग पूरे पैसे वसूल करेगा
जिला शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार सिंह का कहना है कि आरोपी शिक्षिका से विभाग पूरे पैसे वसूल करेगा. प्राथमिकी दर्ज होने के बाद पुलिस आरोपी शिक्षिका और अधिकारियों की तलाश कर रही है. हालांकि, शिक्षिका फरार बताई जा रही है. उधर, मामला दर्ज होने पर मशरक थानाध्यक्ष रत्नेश कुमार वर्मा ने कांड संख्या 329/20 दर्ज कर मामले की जांच शुरू दी है. मामले में दिये आवेदन में कहा गया है कि फर्जी शिक्षकों पर हाईकोर्ट पटना ने सीडबलूजेसी 15459/2014 के तहत आदेश जारी किया था कि जो भी प्रखंड शिक्षक फर्जी सर्टिफिकेट पर नौकड़ी कर रहे हैं वे पद से इस्तीफा दें.
चंदा कुमारी ने पद से इस्तीफा दिया


उत्क्रमति मध्य विद्यालय जजौली में कार्यरत शिक्षिका चंदा कुमारी ने पद से इस्तीफा देने के बाद भी प्रधानाचार्य संजीव कुमार और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी लखेन्द्र पासवान की मिलीभगत से 29/07/15 से अक्टूबर 2018 तक अपने आप को विद्यालय में कार्यरत दिखा दिया. इस दौरान वेतन भुगतान प्रस्ताव जिला कार्यक्रम पदाधिकारी और स्थापना कार्यालय को भेज वेतन भी प्राप्त कर लिया. मामले में सरकारी राशि का अवैध तरीके से निकासी कर लिया गया. मामले में मशरक थाना पुलिस ने तीनों लोगों पर प्राथमिकी दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है.

ये भी पढ़ें-

दिल्ली में इस बार समय से पहले पहुंचेगा मानसून, देश में यहां होगी भारी बारिश!

दिल्ली में बीते 24 घंटे में COVID-19 से 93 लोगों की मौत, 1859 नए मामले आए
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज