Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    Sonepur Election Result: RJD के डॉ. रामानुज प्रसाद जीते, BJP के विनय कुमार सिंह को 6686 वोट से हराया

    RJD के डॉ. रामानुज प्रसाद जीते.
    RJD के डॉ. रामानुज प्रसाद जीते.

    Bihar Assembly Election 2020: सारण जिले का सोनपुर विधानसभा क्षेत्र (Sonpur Assembly Constituency) ऐसा इलाका है जहां से सूबे के दो सीएम विधायक रह चुके हैं. आज यहां चुनाव में RJD के डॉ. रामानुज प्रसाद जीत गए हैं. वहीं, BJP के विनय कुमार सिंह को 6686 वोट से हराया.

    • News18 Bihar
    • Last Updated: November 10, 2020, 10:58 PM IST
    • Share this:
    सारण. बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Election Result 2020) के लिए वोटों की गिनती जारी है. वहीं, बिहार के सोनपुर (Sonepur Election Result) में RJD के डॉ. रामानुज प्रसाद जीत गए हैं. वहीं, BJP के विनय कुमार सिंह को 6686 वोट से हराया. बीजेपी के विनय कुमार सिंह आगे चल रहे हैं. जबकि RJD पीछे है. सारण जिले का सोनपुर विधानसभा क्षेत्र (Sonpur Assembly Constituency) वह जगह है जहां विश्व प्रसिद्ध हरिहर नाथ मेला (Harihar Nath Mela) लगता है. पूरे विश्व में इस जगह की पहचान है, लेकिन इसका विकास आज भी अधूरा ही दिखता है. सूबे के पूर्व सीएम रामसुंदर दास, लालूप्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) और डिप्टी सीएम रामजयपाल सिंह यादव यहां के विधायक रहे हैं. 1990 के दशक में सूबे की सियासत में पांव जमाने वाले लालू प्रसाद को विपरीत परिस्थितियों में सोनपुर ने आश्रय दिया. इस सीट से वर्तमान में राजद के डॉ. रामानुज प्रसाद विधायक हैं.

    सारण संसदीय सीट से दूसरा चुनाव हारने के बाद सोनपुर के लोगों ने 1980 व 1985 में उन्हें अपना विधायक बनाया. लेकिन उनकी पत्नी पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी को नकार दिया और 2010 के चुनाव में उन्हें हार का स्वाद चखाया. इस बार भी चुनाव में राजद के डॉ. रामानुज प्रसाद और बीजेपी के विनय सिंह चुनाव की तैयारियों में जुट हुये हैं.

    बिहार चुनाव नतीजे LIVE: बिहार चुनाव के नतीजे अभी हैं दूर, EC ने कहा- अब तक बस 92 लाख वोटों की हुई गिनती, 4 करोड़ हैं बाकी



    क्षेत्र की बड़ी पहचान हरिहर क्षेत्र मेला ही है
    गंगा और गंडक नदियों से सटे सोनपुर विधानसभा क्षेत्र की अर्थव्यवस्था कृषि आधारित है. उद्योग विहीन इस विधानसभा क्षेत्र की बड़ी पहचान हरिहर क्षेत्र मेला ही है. इसकी पहचान कभी एशिया फेम पशु मेले की भी थी. बदलते परिवेश में इस ऐतिहासिक मेले का ह्रास होता चला जा रहा है. राष्ट्रीय मेला घोषित करने की कवायदें तो खूब हुईं, लेकिन घोषणा का इंतजार आज तक भी है.

    परिसीमन के बावजूद सोनपुर का भूगोल पूर्ववत रहा
    बाबा हरिहरनाथ और शक्तिपीठ आमी के पर्यटक स्थल बनने का सपना अभी भी अधूरा पड़ा है. सोनपुर विधानसभा क्षेत्र का गठन 1952 में हुआ था. पिछले परिसीमन में सारण के सभी विधानसभा क्षेत्रों का स्वरूप बदला, लेकिन सोनपुर का भूगोल पूर्ववत रह गया. विशाल हरदिया चंवर की जल निकासी की व्यवस्था नहीं होने से यहां की विशाल कृषि भूमि किसानों के लिए अभिशाप बनी हई है.

    Bihar Assembly Election 2020: हॉट सीट बनियापुर से क्या विधायक केदारनाथ चौथी बार पहुंचे पायेंगे विधानसभा ?

    यादव और राजपूत बहुल क्षेत्र है
    बात अगर मतदाताओं की करें तो यहां 2,81,283 वोटर हैं. इनमें से 1,50,983 पुरुष, 1,30,299 महिला और 1 थर्ड जेंडर का मतदाता है. यह इलाका यादव और राजपूत बहुल माना जाता है. यहां की राजनीति भी इन दो जातियों को बीच केंद्रित है.

    1952 से लेकर अब तक इन विधायकों ने किया है यहां का प्रतिनिधित्व
    1952 - जगदीश शर्मा - कांग्रेस
    1957 - रामविनोद सिंह -निर्दलीय
    1962 - शिव बचन सिंह - कम्युनिस्ट
    1967-72- रामजयपाल सिंह यादव - कांग्रेस
    1977 - रामसुंदर दास - जनता पार्टी
    1980-85 - लालूप्रसाद यादव - जद एस-लोकदल
    1990-95 - राज कुमार राय - जनता दल
    2000 - विनय कुमार सिंह - बीजेपी
    2005 - डॉ. रामानुज प्रसाद - राजद
    2010 - विनय कुमार सिंह - बीजेपी
    2015 - डॉ. रामानुज प्रसाद - राजद
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज