अपराधी हिंदू हो तो साथ खाना नहीं, मुस्लिम हो तो कब्रिस्तान जाना नहीं: डीजीपी

News18 Bihar
Updated: September 12, 2019, 10:59 PM IST
अपराधी हिंदू हो तो साथ खाना नहीं, मुस्लिम हो तो कब्रिस्तान जाना नहीं: डीजीपी
बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय

डीजीपी ने कहा कि आज धर्म और मजहब के नाम पर अपराधियों के संरक्षण देने की परंपरा बन गई है जिसे खत्म करने की जरूरत है.

  • News18 Bihar
  • Last Updated: September 12, 2019, 10:59 PM IST
  • Share this:
छपरा. बिहार (Bihar) के पुलिस महानिदेशक (DGP) गुप्तेश्वर पांडेय (Gupteshwar Pandey) ने अपराध नियंत्रण के लिए नया फार्मूला दिया है. बढ़ती अपराधिक घटनाओं पर रोकथाम के लिए डीजीपी ने अपराधियों के सामाजिक बहिष्कार का आह्वान किया है.

अपराध नियंत्रण के लिए समाज के लोगों को साथ आना होगा
सारण जिले के मुख्यालय छपरा में इंडियन बुलियन ज्वैलर्स एसोसिएशन के सम्मेलन को संबोधित करते हुए डीजीपी ने कहा,
'अपराधी हिंदू हो तो साथ खाना नहीं और मुस्लिम हो तो साथ कब्रिस्तान जाना नहीं. उन्होंने कहा कि अकेले पुलिस अपराध नियंत्रण नहीं कर सकती है. समाज के लोगों को साथ आना होगा. आज धर्म और मजहब के नाम पर अपराधियों के संरक्षण देने की परंपरा बन गई है जिसे खत्म करने की जरूरत है.'


इससे पहले डीजीपी ने छपरा में अपराध को लेकर समीक्षा बैठक भी की. समाहरणालय में उन्होंने अधिकारियों के साथ बैठक कर विधि-व्यवस्था का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने क्राइम कंट्रोल के लिए आवश्यक निर्देश दिए. इस मौके पर डीआईजी विजय कुमार वर्मा, सारण के एसपी हर किशोर राय और डीएम सुब्रत कुमार सेन के साथ ही जिले के तमाम पुलिसकर्मी मौजूद रहे. इस मौके पर डीजीपी ने बैठक में मौजूद पुलिसकर्मियों के सुस्त रवैए पर नाराजगी व्यक्त की.

(रिपोर्ट- संतोष गुप्ता)

ये भी पढ़ें-

बाइकर्स हो जाएं सावधान! परिवहन विभाग ने ले लिया है ये बड़ा फैसला
Loading...

बिहार के DGP का दावा- यूके और कनाडा से बेहतर है हमारी पुलिस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 12, 2019, 9:32 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...