Bihar Intermediate Exam: डिलीवरी के 6 घंटे बाद पेपर देने पहुंची कुसुम, प्रियंका ने सेंटर जाने के बाद दिया बच्चे को जन्म

बिहार के छपरा में नवजात बच्चे के साथ परीक्षार्थी

बिहार के छपरा में नवजात बच्चे के साथ परीक्षार्थी

Bihar Intermediate Exam: परीक्षा के दौरान ही बच्चे को जन्म देने की ये दोनों घटनाएं बिहार के छपरा की है. पहली परीक्षार्थी के डिलीवरी के 6 घंटे बाद ही दोबारा परीक्षा में शामिल होना इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 9:14 AM IST
  • Share this:

छपरा. बिहार में जारी इंटर परीक्षा (Bihar Inter Exam) के बीच 6 घंटे पूर्व नवजात को जन्म देने वाली परीक्षार्थी परीक्षा देने सेंटर जा पहुंची. मामला सारण जिले के तरैया का है जहां प्रसव के तुरंत बाद परीक्षा देने केंद्र पर मासूम के साथ गई इंटर की परीक्षार्थी लोगों के बीच चर्चा का विषय बन गई. दरअसल तरैया प्रखंड के नारायणपुर निवासी इंटरमीडिएट की एक परीक्षार्थी को परीक्षा के दिन ही प्रसव पीड़ा (Labor Pain) शुरू हो गई. अस्पताल में परीक्षार्थी ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया. प्रसव के तुरंत बाद ही हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर अपने नवजात बच्ची को साथ लेकर ही परीक्षा देने के लिए छपरा चली गई.

पानापुर प्रखंड के टोटहां जगतपुर निवासी राजदेव राय की पुत्री कुसुम कुमारी की शादी पिछले वर्ष ही तरैया प्रखंड के नारायणपुर निवासी मालिक राय से हुई थी उस समय कुसुम इंटर की पढ़ाई कर रही थी एवं ससुराल आकर भी पढ़ाई जारी रखते हुए इंटर का फॉर्म भरने के समय में मायके जाकर डुमरसन स्थित हाई स्कूल से परीक्षा का फॉर्म भरा था. बिहार में 1 फरवरी से शुरू हुई इंटर की परीक्षा में कला संकाय की छात्रा कुसुम कुमारी का पहला पेपर भूगोल का 2 फरवरी को होना था लेकिन 1 फरवरी की रात से ही प्रसव पीड़ा होने की वजह से परिजनों ने आनन-फानन में आज सुबह रेफरल अस्पताल तरैया में भर्ती कराया. अस्पताल पहुंचने के तुरंत बाद ही कुसुम ने एक पुत्री को जन्म दिया.

साधारण डिलीवरी होने की वजह से एवं जच्चा बच्चा दोनों का स्वास्थ्य संतोषप्रद देखने के बाद पढ़ाई के प्रति जागरूक परिजनों को परीक्षा की चिंता हुई स्वयं कुसुम ने भी किसी भी तरह परीक्षा में शामिल होने की इच्छा जताई उसके बाद परिजनों ने तुरंत ही छपरा स्थित गांधी हाई स्कूल के सेंटर पर पहुंचने के लिए वाहन का व्यवस्था किया एवं विशेष परिस्थिति को देखते हुए तुरंत ही अस्पताल द्वारा डिस्चार्ज कर दिया गया.

कड़ाके की ठंड के बावजूद इस विषम परिस्थिति में भी परीक्षार्थी द्वारा अपनी नवजात बच्ची के साथ परीक्षा में शामिल होने को लेकर क्षेत्र भर इस बात की चर्चा रही एवं लोग बाग शिक्षा के प्रति परीक्षार्थी एवं उसके परिवार के लोगों की लगन एवं निष्ठा की सराहना करते दिखे. दूसरी घटना मढौरा की है जहां जवाहर लाल नेहरू इंटर कॉलेज केंद्र पर परीक्षा देने पहुंची परीक्षार्थी प्रियंका को प्रसव पीड़ा शुरू हो गई, जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा. अस्पताल में प्रियंका ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज