लाइव टीवी

Corona से जंग: बिहार का यह मुस्लिम युवक मंदिरों को करवा रहा है सेनेटाइज
Saran News in Hindi

SANTOSH GUPTA | News18 Bihar
Updated: May 21, 2020, 5:39 PM IST
Corona से जंग: बिहार का यह मुस्लिम युवक मंदिरों को करवा रहा है सेनेटाइज
छपरा जिले के आफताब आलम खान मंदिर को सैनिटाइज करवा रहे हैं

छपरा जिले में एक मुस्लिम युवक ने सांप्रदायिक सौहार्द की मिशाल पेश की है. हाजी आफताब आलम नाम के यह युवक मस्जिद के साथ-साथ हिंदू धर्मस्थलों को भी सेनेटाइज करा रहा है ताकि कोरोना वायरस (Coronavirus) से लोगों को बचाया जा सके.

  • Share this:
छपरा. बिहार के छपरा जिले में एक मुस्लिम युवक ने सांप्रदायिक सौहार्द (Religious Harmony) की एक बेहतरीन मिशाल पेश की है. यह युवक मस्जिदों के साथ-साथ हिंदू धर्मस्थलों को भी सेनेटाइज (Senitization) करा रहा है ताकि कोरोना के कहर के बाद श्रद्धालुओं को यहां पहुंचने पर किसी प्रकार के संक्रमण का शिकार न होना पड़े. छपरा के ब्रह्मपुर इलाके में रहने वाले हाजी आफताब आलम खान (Aftab Alam Khan) करोना संकट के दौरान मानवता की सेवा कर रहे हैं और हिंदू बस्तियों में जाकर जरुरतमंदो को खाद्य सामग्री उपलब्ध करवा रहे हैं. इन सब कामों के बीच मुस्लिम समाज के लोगों ने सार्वजनिक एवं धार्मिक स्थलों को सेनेटाइज करने के बारे में सोचा तो हाजी आफताब आलम ने यह निर्णय लिया कि इस कार्य में भी मजहब की दिवार तोड़ी जाए और राम रहीम दोनों के दरबार को समान रूप से सेनेटाइज किया जाए.

लॉकडाउन के चलते हैं बंद पड़े हैं मंदिर और मस्जिद

गौरतलब है कि कोरोना वैश्विक महामारी की त्रासदी ने कुछ ऐसा कहर ढाया कि सड़कें सुनसान हैं और बाजार बंद हैं. कोरोना काल में लॉकडाउन की मियाद लगातार बढ़ती जा रही है और इसके संक्रमण के डर के कारण धार्मिक स्थानों पर भी ताला लटकाना पड़ गया है. इन तमाम दिक्कतों को देखते हुए मुस्लिम समाज के लोगों ने मजबूर ज़रूरतमंद लोगों की मदद और इलाके को सेनेटाइज करने का बीड़ा उठाया है.



इन इलाकों को करवाया सेनेटाइज



घरों की बाहरी दीवारें और दरवाजे, बड़ी सड़कें हो या गलियां, मस्जिद हो या मंदिर सभी को संक्रमण मुक्त करने के अभियान को छपरा शहर के रहने वाले हाजी आफताब आलम खान ने शुरू किया है. ब्रह्मपुर, जलालपुर, अजायबगंज, रिविलगंज के गोदना, इनई और रिविलगंज बाजार में छिड़काव करते हुए आफताब की टीम ने रास्ते में आने वाले सभी मस्जिदों और मंदिरों को सेनेटाइज करवाया है. इन लोगों ने मौके पर जुटने वाले असहाय ग्रामीणों को सूखे राशन से भरे थैले भी दान किये.

मंदिर और मस्जिद आस्था के केंद्र: आफताब

हाजी आफताब आलम खान ने बताया कि मंदिर हो या मस्ज़िद सभी आस्था के केंद्र हैं और जब इन स्थानों पर आने वाले व्यक्ति दुनिया के लोभ, लालच, बेईमानी, दुश्मनी सब त्याग कर अल्लाह और भगवान के सामने शांति और समर्पण का भाव लेकर आते हैं तो उन्हें एक सुरक्षित माहौल भी मिलना चाहिए.

ये भी पढ़ें: दिल्ली से बिहार 4000 हजार में फर्जी पास पर बस से कराते थे यात्रा, दो गिरफ्तार

इस बगीचे में योगी और विवेकानंद आम, एक पेड़ पर 150 ​किस्में उगाने पर हो रहा काम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading