Home /News /bihar /

Corona Omicron की दहशत, बिहार के इस अस्पताल में बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री बैन

Corona Omicron की दहशत, बिहार के इस अस्पताल में बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री बैन

हार के छपरा सदर अस्पताल में अब से बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री पर पाबंदी रहेगी.

हार के छपरा सदर अस्पताल में अब से बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री पर पाबंदी रहेगी.

Corona Crisis: देश में महामारी कोरोना की दहशत फिर से फैल गई है. अस्पतालों में भी कोरोना को लेकर खास एहतियात बरती जा रही है. छपरा के सदर अस्पताल में शनिवार से बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री पर पाबंदी रहेगी।ओपीडी सेवा का लाभ लेने के लिए मरीजों को पहले को भी टेस्ट कराना होगा, इसके बाद ही डॉक्टर उनका इलाज करेंगे. हालांकि इमरजेंसी पर यह नियम लागू नहीं होगा. इसके लिए सदर अस्पताल में अतिरिक्त काउंटर बनाए गए हैं ताकि मरीजों को कोई दिक्कत ना हो.

अधिक पढ़ें ...

छपरा. कोरोना वायरस (Corona Virus) महामारी अब अपने नए रूप के साथ आया है. ओमिक्रॉन (Omicron Variant) को लेकर बिहार समेत पूरे देश में विशेष एहतियात बरती जा रही है. कोरोना के नए वेरिएंट के खतरे को भांपते हुए बिहार सरकार विशेष तैयारी कर रही है. वहीं, अस्पताल प्रशासन भी सर्तक हो गया है. इसी क्रम में छपरा सदर अस्पताल (Chhapra Sadar Hospital) में अब से बिना कोविड टेस्ट मरीजों की एंट्री पर पाबंदी रहेगी. ,ओपीडी सेवा का लाभ लेने के लिए मरीजों को पहले अपना टेस्ट कराना होगा, इसके बाद ही डॉक्टर उनका इलाज करेंगे. हालांकि इमरजेंसी पर यह नियम लागू नहीं होगा. इसके लिए सदर अस्पताल में अतिरिक्त काउंटर बनाए गए हैं जिससे कि मरीजों को कोई दिक्कत ना हो.

अस्पताल प्रबंधक राजेश्वर प्रसाद ने बताया कि कोरोना के नए वेरिएंट को देखते हुए अस्पताल प्रबंधन पूरी तरह अलर्ट है. उधर, ओमिक्रोन को लेकर स्वास्थ विभाग पूरी तरह से अलर्ट है. इससे निपटने को लेकर आवश्यक तैयारी शुरू कर दी गई है. ओमिक्रोन को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की चेतावनी के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है. विदेश से आने वाले प्रवासियों की सूची तैयार की जा रही है.

कोरोना को लेकर जारी किया गया दिशा-निर्देश 

इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेश संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर जिलाधिकारी (डीएम) और सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं. पत्र में कहा गया है कि विदेश से भारत लौटने वाले बिहार के प्रवासियों की सूची जिलावार प्रतिदिन भेजी जाए. सूची के आधार पर चिह्नित व्यक्तियों से दूरभाष पर संपर्क कर और उनके घर पर स्वास्थ्य कर्मियों को भेजकर सैंपल कलेक्शन कराना सुनिश्चित किया जाएगा. विदेश से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की आरटी-पीसीआर जांच करना सुनिश्चित किया जाए. साथ ही, इससे संबंधित प्रतिवेदन प्रतिदिन राज्य मुख्यालय को भेजा जाए.

विदेश से लौटने वाले व्यक्तियों की जांच पटना और दरभंगा एयरपोर्ट पर सुनिश्चित की जाएगी. कम से कम  पांच प्रतिशत यात्रियों की आरटी-पीसीआर जांच के लिए रैंडम सैंपल संग्रह किया जाएगा. अधिक से अधिक रैपिड एंटीजन किट से जांच की जाएगी. कोविड जांच में पॉजिटिव पाए गए यात्रियों के सैंपल को पटना के आईजीआईएमएस भेजा जाएगा.

सिविल सर्जन डॉ. सागर दुलाल सिन्हा ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव का एकमात्र उपाय टीकाकरण ही है. ऐसे में हर योग्य व्यक्तियों को कोविड का टीका लेना आवश्यक है. साथ ही आम जनता की जिम्मेदारी है कि वो कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करे. कोविड वैक्सीन के दोनों डोज लेना जरूरी है. जिन लोगों के सेकेंड डोज का समय हो गया है वो अनिवार्य रूप से अपना टीकाकरण करा लें.

Tags: Chhapra News, Coronavirus, Omicron variant

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर