लाइव टीवी

दिवाली के एक दिन पहले चौथी बच्ची ने लिया था जन्म, शराबी पिता ने चुराकर बेचा

SANTOSH GUPTA | News18 Bihar
Updated: November 7, 2019, 10:21 AM IST
दिवाली के एक दिन पहले चौथी बच्ची ने लिया था जन्म, शराबी पिता ने चुराकर बेचा
छपरा का महिला थाना जहां इस मामले में शिकायत दर्ज कराई गई है

मानवीय संवेदना को तार-तार करने वाली ये घटना छपरा की है. इस मामले में पीड़िता ने मदद के लिए हेल्पलाइन का सहारा लिया है.

  • Share this:
छपरा. बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा लगाने वाले इस समाज में आज भी बेटियों को जन्म देना किसी अभिशाप से कम नहीं. कुछ ऐसा ही मामला सामने आया है बिहार के छपरा (Chapra) में जहां चौथी बार बेटी जन्म देने पर शराबी पिता (Drunken Man) ने 5 दिन की बेटी को चुरा कर बेच दिया. इसके पहले बेटी जन्म देने वाली इस मां को लोगों ने घर से निकाल दिया था जिसके बाद इस महिला को दूसरे के घरों में नौकरानी का काम कर अपनी बेटियों का पेट पालना पड़ रहा था.

हेल्पलाइन से मिली मदद

मामला प्रकाश में तब आया जब महिला अपनी समस्या को लेकर हेल्पलाइन पहुंची. दिल को दहला देने वाला ये मामला सारण के नगरा थाना क्षेत्र के अफौर पूरब टोला का है जहां शराबी पति ने अपने 5 दिन की बेटी को अगवा कर पैसे की लालच में बेच दिया. इस घटना के बाद उसकी पत्नी महिला हेल्पलाइन में पहुंचकर बेटी को सही सलामत बरामद करने की गुहार लगाई है. महिला हेल्पलाइन प्रबंधक ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर को बरामद करने के लिए पत्र लिखा है.

पीड़िता को थी चार बेटियां

जानकारी के अनुसार और अफौर पूरब टोला निवासी मुन्ना रावत की पत्नी आशा देवी के 4 बच्चियां है. बेटी होने के कारण शराबी पति और सास-ससुर उसे प्रताड़ित करने लगे. पहली बच्ची 12 साल की है, दूसरी 10 साल और तीसरी आठ और चौथी 5 दिन की है. आशा देवी ने बताया कि उसकी शादी 2003 में अफौर पूरब टोला निवासी मुन्ना रावत के साथ हुई थी. पहली बार जब उसे बच्ची हुई, उस समय के बाद ही घर वाले उसे प्रताड़ित करने लगे उसके बाद भी एक-एक कर 3 बच्चियां हुई तो घर वालों ने प्रताड़ित कर उसे घर से ही निकाल दिया.

जूठा बर्तन साफ करके कर रही गुजारा

पीड़िता ने बताया कि वो पिछले 3 साल से छपरा शहर में रहकर दूसरे घर में बर्तन साफ करने के काम करती है और अपना जीकोपार्जन करती है. बाद में जब आशा देवी ने थाने में प्रताड़ना का केस किया तो पति को प्रताड़ना के मामले में जेल भेजा गया और बाद में सुलह भी लगा. जेल से निकलने के बाद पति ने अपनी पत्नी के यहां छपरा आने जाने लगा फिर दीपावली के 1 दिन पहले आशा को एक और पुत्री हुई जिसके बाद सास-ससुर और पति नाराज हो गए और उसे प्रताड़ित करने लगे.
Loading...

शराबी पति ने पांच दिन की मासूम का कर दिया सौदा

दो दिन पहले आशा की तबीयत बिगड़ गई. इसी दौरान उसकी 5 दिन की बच्ची को शराबी पति ने अगवा कर लिया और कहीं ले जाकर बेच दिया. आशा ने रो-रो कर अपनी व्यथा महिला प्रबंधक के सामने रखी. हेल्पलाइन प्रबंधक ने इस बाबत सामाजिक सुरक्षा कोषांग के डायरेक्टर राकेश कुमार ,चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर शिशिर कुमार से बातचीत की. पीड़िता के आवेदन के आधार पर प्रबंधक ने बच्चे को बरामद करने के लिए प्रोटेक्शन ऑफिसर से पत्राचार किया. बच्चे को सही सलामत बरामद करने के लिए पुलिस की मदद ली जा रही है लेकिन अगवा बच्ची का अब तक कोई सुराग नहीं मिल सका है.

ये भी पढ़ें- साथी की हत्या हुई तो एकजुट हो गए देश भर के किन्नर, आंदोलन की चेतावनी

ये भी पढ़ें- अपने ही मंत्री पर भड़के CM नीतीश कुमार, बोले- उनसे तो मैं 'ठीक' से बात करूंगा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 7, 2019, 10:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...