पवन सिंह के बाद अब मुश्किल में ये भोजपुरी सुपर स्टार, केस दर्ज

News18 Bihar
Updated: August 18, 2019, 11:14 AM IST
पवन सिंह के बाद अब मुश्किल में ये भोजपुरी सुपर स्टार, केस दर्ज
खेसारी लाल यादव की फाइल फोटो

असहनी गांव के मृत्युंजय पाण्डेय ने एफआईआर में कहा है कि अभिनेता की पत्नी चंदा देवी के नाम से सात कट्ठा जमीन चैनवा चट्टी के समीप 22 लाख रूपए में रजिस्ट्री कराई थी. इसके भुगतान को लेकर विवाद हो गया.

  • Share this:
भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री (Film Industry) के सुपर स्टारों के दिन इस समय अच्छे नहीं चल रहे. अभिनेत्री अक्षरा सिंह (Akshara Singh) से विवाद के बाद जहां भोजपुरी सिने स्टार पवन सिंह (Actor Pawan Singh) के खिलाफ केस (Case) दर्ज हुआ तो वहीं अब एक और प्रसिद्ध भोजपुरी फिल्म अभिनेता (Bhojpur Film Actor) और गायक भी केस मुकदमे में फंसता दिख रहा है. हम बात कर रहे हैं खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav) की जो फिलहा धोखाधड़ी (Fraud) से जुड़े मामले में फंसते दिख रहे हैं. खेसारी लाल के खिलाफ चेक बाउंस होने को लेकर रसूलपुर थाना में एक एफआईआर (FIR) दर्ज कराया गया है. अभिनेता खेसारी लाल ने इसे जमीन खरीद-बिक्री में धोखाधड़ी को लेकर भुगतान (Payment) रोकने का मामला बताया है.

बीवी के नाम पर ली थी जमीन

असहनी गांव के मृत्युंजय पाण्डेय ने एफआईआर में कहा है कि अभिनेता की पत्नी चंदा देवी के नाम से सात कट्ठा (बिसवा) जमीन चैनवा चट्टी के समीप 22 लाख रुपए में रजिस्ट्री कराई गई थी, जिसके लिए खेसारी लाल ने उनको बैंक ऑफ बड़ौदा के नाम से 18 लाख रुपए का चेक दिया था. शेष रकम बाद में भुगतान करने को कहा गया था. आरोप है कि चेक तीन महीने में दो बार लौट कर आ गया और बाउंस होने के कारण भुगतान नहीं हो सका.

खेसारी लाल बोले- अकाउंट में 50 लाख

चेक बाउंस मामले में खेसारी लाल यादव ने पूछे जाने पर बताया कि उनके खाते में पचास लाख से ज्‍यादा रुपए हैं, ऐसे में चेक बाउंस हो ही नहीं सकता. उन्‍होंमने भुगतान रोकने का आरोप लगाया है. खेसारी लाल ने कहा कि रजिस्ट्री करने वाले मृत्युंजय पांडेय ने रुपये भुगतान के पहले दाखिल खारिज करने की बात की थी, क्योंकि उस जमीन का दाखिल खारिज किसी और के नाम से है. जिससे मृत्‍युंजय ने जमीन खरीदी थी.

केस करने की कही बात

खेसारी लाल ने कहा कि तीन महीना बीतने के बाद भी उस जमीन का दाखिल खारिज मृत्‍युंजय ने अपने नाम से नहीं करा सके, इसलिए उन्हें आशंका है कि इस जमीन की खरीद बिक्री में उनके साथ धोखाधड़ी की गई है. जब तक जमीन का दाखिल खारिज नहीं हो जाती तब तक भुगतान रुका रहेगा. दाखिल खारिज नहीं होने पर वे खुद धोखाधड़ी की प्राथमिकी करेंगे.
Loading...

रिपोर्ट- संतोष कुमार गुप्ता

ये भी पढ़ें- अनंत सिंह पर इतने दिनों तक क्यों थी 'सरकार' की अनंत कृपा?

ये भी पढ़ें- अनंत सिंह की गिरफ्तारी के लिए आधी रात को छापेमारी, सरकारी आवास छोड़ फरार हुए विधायक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 18, 2019, 7:42 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...