Bihar Flood: पावरग्रिड में बाढ़ का पानी घुसने से अंधेरे में डूबे बिहार के ये तीन जिले
Gopalganj News in Hindi

Bihar Flood: पावरग्रिड में बाढ़ का पानी घुसने से अंधेरे में डूबे बिहार के ये तीन जिले
बिहार के छपरा स्थित पावर ग्रिड में घुसा बाढ़ का पानी

Bihar Flood: छपरा के अमनौर में स्थित रसूलपुर पावरग्रिड (Power grid) में बाढ़ का पानी घुसने से कई प्रखंडों के गांवों और जिले में बिजली सप्लाई (Electricity Supply) ठप. बिजली विभाग की सुस्ती से लोगों में नाराजगी. छपरा डीएम ने पत्र जारी कर संयम रखने की अपील की.

  • Share this:
छपरा. बिहार में बाढ़ का कहर (Bihar Flood) जारी है. छपरा में बाढ़ के कहर के बीच बिजली की आपूर्ति कई दिनों से ठप्प है. दरअसल, छपरा में अमनौर के रसूलपुर पावरग्रिड (Power grid) में बाढ़ का पानी घुस गया है जिस कारण जिले भर में विद्युत आपूर्ति (Electricity Supply) लगभग ठप्प पड़ गई है. अमनौर के रसूलपुर पावर ग्रिड से सारण प्रमंडल क्षेत्र के साथ आठ विद्युत उपकेंद्रों में विद्युत आपूर्ति की जाती थी.

अचानक तेज रफ्तार में बढ़ रहा बाढ़ का पानी पावर ग्रिड के परिसर में प्रवेश कर गया जिससे अचानक विद्युत आपूर्ति बाधित हो गई. विद्युत आपूर्ति ठप्प होने से छपरा, सीवान, गोपालगंज के सैकड़ों गांव अंधकार में डूब गए हैं. रसूलपुर पावर ग्रिड में पानी प्रवेश करने से कई प्रखंड, जिला में विद्युत बाधित है. एक सप्ताह बाद भी पावर ग्रिड से पानी नहीं निकलने के कारण इलाके के लोग काफी परेशान हैं.

अमनौर की रहने वाली प्रियंका ने बताया कि मोबाइल चार्ज करने में भी दिक्कतें आ रही हैं और जनजीवन पूरी तरह प्रभावित हो रहा है. गर्मी में लोग परेशान हैं. विभाग द्वारा इस समस्या के समाधान के लिए कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है. बाढ़ के कारण छपरा, सीवान, गोपालगंज के विद्युत उपकेंद्रों में विद्युत ठप होने से सैकड़ों गांव अंधकार में डूबे हैं. छपरा मुख्यालय तेलपा, सीवान और गोपालगंज द्वारा वैकल्पिक व्यवस्था ढूंढ ली गई है लेकिन रसूलपुर पावर ग्रिड से जुड़े कई इलाके अभी भी अंधेरे में हैंं.



मढौरा, अमनौर, मकेर, भेल्दी, डेरनी पोझि नगरा आदि विद्युत उपकेंद्रों में पूर्णतः आपूर्ति ठप्प हो गई है. पूर्वी क्षेत्र विद्युत सप्लाई के कार्यपालक अभियंता अजय मिश्रा ने बताया कि आठ विद्युत उपकेंद्रों में बिजली की आपूर्ति ठप हो गई है. हम लोग पूरा प्रयास कर रहे है कि केंद्र से पानी निकलवाकर फिर से विद्युत आपूर्ति बहाल किया जाये. जब तक पानी का निकासी नहीं होती है विद्युत आपूर्ति बाधित रहेगी. उन्होंने उम्मीद जताई कि अगले दो-तीन दिन में कोई वैकल्पिक व्यवस्था कर ली जाएगी. डीएम सुब्रत कुमार सेन ने इस बाबत एक पत्र भी जारी किया है जिसमें उन्होंने लोगों से संयम बरतने का आग्रह किया है. साथ ही यह भी कहा है कि अगर कोई आंदोलन करता है तो उसके ऊपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज