छपरा की इस लड़की ने पेश की मानव धर्म की मिसाल, सड़क पर तड़प रही कुतिया को दिया नया जीवन
Saran News in Hindi

छपरा की इस लड़की ने पेश की मानव धर्म की मिसाल, सड़क पर तड़प रही कुतिया को दिया नया जीवन
छपरा की कविता ने पेश की मानवता की मिसाल.

सारण की कविता का कहना है कि हमें जानवरों (Animals) से भी इंसानों की तरह ही प्यार करना चाहिए क्योंकि वह भी हमारी भावनाओं को समझते हैं.

  • Share this:
छपरा. आमतौर पर सड़क पर किसी बीमार जानवर को देखकर लोग अक्सर अपनी आंखें फेर लेते हैं, लेकिन छपरा की एक लड़की ने मानव धर्म की मिसाल पेश की है. उस ने सड़क पर कराह रही एक घायल कुतिया को नई जिंदगी दी है. दरअसल अस्पताल चौक इलाके की रहने वाली कविता अपने कार्यालय जाने के वक्त एक कुतिया को अक्सर देखा करती थी, लेकिन लॉकडाउन के दौरान वह घर से बाहर नहीं निकलती थी. मिली जानकारी के अनुसार इसी दौरान यह कुतिया एक सड़क हादसे में जख्मी हो गई. जब ये बात कविता को मालूम हुई तो उसने उसका पता लगाकर उसके जख्मों का इलाज किया. बताया जा रहा है कि 20 दिन की मेहनत के बाद यह कुतिया अब पूरी तरह ठीक है.

कुतिया के इलाज में जुटी है कविता
इलाके के लोग कविता के इस जज्बे को सलाम कर रहे हैं. कविता ने अपने खर्च से सड़क पर रहने वाले इस बीमार जानवर की निस्वार्थ सेवा कर रही हैं. इसके इलाज में तत्परता से जुटी कविता का कहना है कि हमें जानवरों से भी इंसानों की तरह ही प्यार करना चाहिए क्योंकि वह भी हमारी भावनाओं को समझते हैं.

कविता की भावना की हो रही सराहना



कविता ने कहा कि इंसानियत के नाते उसने इस जानवर की मदद की है. इलाके के लोग भी कविता के इस भावना का कद्र करते हुए बीमार जानवर की देखभाल करते हैं. स्थानीय निवासी राकेश कुमार बताते हैं कि अगर कविता की मानवतावादी सोच से ही इस नीरीह जानवर की  जिंदगी बचाई जा सकी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading