Home /News /bihar /

jansuraj yatra poll strategist prashant kishor attacked on cm nitish kumar nodmk8

CM नीतीश पर बरसे प्रशांत किशोर, बिहार के विकास के लिए 'जनसुराज यात्रा' को बताया जरूरी

जनसुराग यात्रा के तहत छपरा पहुंचे पीके ने कहा कि बिहार में विकास के साथ रोजगार की संभावानाओं को तलाशने के लिए बड़े बदलाव की जरूरत है

जनसुराग यात्रा के तहत छपरा पहुंचे पीके ने कहा कि बिहार में विकास के साथ रोजगार की संभावानाओं को तलाशने के लिए बड़े बदलाव की जरूरत है

Bihar News: जनसुराज यात्रा के तहत छपरा पहुंचे पीके ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ पिछले तीन वर्षों में लोग अब खुल कर बोलने लगे हैं. उन्होंने कहा कि वो अच्छे लोगों को जोड़ने के लिए जनसुराज यात्रा पर निकले हैं. यात्रा के दूसरे चरण में वो बिहार की पदयात्रा करेंगे और गांव-गांव जाकर लोगों से मुलाकात करेंगे

अधिक पढ़ें ...

छपरा. जनसुराज यात्रा के तहत सोमवार को बिहार के छपरा (Chhapra) पहुंचे चुनावी रणनीतिकार से नेता बने प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर आलोचना की. पीके ने कहा कि नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के खिलाफ पिछले तीन वर्षों में लोग अब खुल कर बोलने लगे हैं. छपरा के रोटरी क्लब द्वारा आयोजित संवाद कार्यक्रम में प्रशांत किशोर ने कहा कि बिहार की राजनीति (Bihar Politics) से अच्छे लोगों को जोड़ने के लिए वो जनसुराज यात्रा (Jansuraj Yatra) पर निकले हैं. यात्रा के दूसरे चरण में वो बिहार की पदयात्रा करेंगे और गांव-गांव जाकर लोगों से मुलाकात करेंगे.

जनसुराज को लेकर पीके ने कहा कि यह संगठन आजादी से पूर्व के कांग्रेस की कार्यशैली से प्रभावित है. जिस तरह आजादी की लड़ाई के लिए अच्छे लोग कांग्रेस से जुड़ते थे वैसे ही अब बिहार में राजनीतिक बदलाव के लिए अच्छे लोगों से एक मंच पर लाने का यह प्रयास है. उन्होंने कहा कि आजादी से पूर्व कांग्रेस राजनीतिक पार्टी न होकर लोगों को जोड़ने वाला संगठन था जिससे विभिन्न वर्गों के लोग जुड़े और आजादी की लड़ाई में शामिल हुए.

प्रशांत किशोर ने कहा कि वर्तमान में कई दशक से कुछ चेहरे ही बिहार की राजनीति को चला रहे हैं, लेकिन इसमें अच्छे लोगों के आने की जरुरत है. उन्होंने कहा कि मैंने विभिन्न पार्टियों के लिए चुनावी जीत की सफल रणनीति बनाई, लेकिन अब मैंने इस काम से खुद को अलग कर लिया है. बिहार के पिछड़ेपन को देखते हुए वो इसको दूर करने वाले राजनीतिक विकल्प की तलाश में निकले हैं. पीके ने कहा कि आजादी के बाद से विभिन्न राजनितिक दलों ने केवल बिहार के विकास का दावा किया, लेकिन वो विफल साबित हो रहे हैं.

उन्होंने कहा कि आज बिहार आर्थिक मोर्चे पर काफी पिछड़ा राज्य बन गया है. यहां के मजदूर छोटे-मोटे कामों के लिए देश के कोने-कोने में जा रहे हैं, लेकिन वर्तमान सरकारों को यह नजर नहीं आ रहा. बिहार में विकास के साथ रोजगार की संभावानाओं को तलाशने के लिए बड़े बदलाव की जरूरत है.

Tags: Bihar News in hindi, Bihar politics, CM Nitish Kumar, Prashant Kishor

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर