बिहार में फायरिंग के बाद राजद विधायक की जमकर पिटाई, पुलिस ने भीड़ से बचाई जान

भीड़ के चंगुल से निकालकर विधायक को ले जाती पुलिस
भीड़ के चंगुल से निकालकर विधायक को ले जाती पुलिस

बीजेपी नेता प्रमोद सिंह पर फायरिंग के बाद राजद विधायक मुद्रिका राय पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने हमला कर दिया. उनको बंधक बनाकर पिटाई की, जिसका वीडियो सामने आया है.

  • Share this:
बिहार में लोकसभा चुनाव के छठे चरण के ठीक पहले हिंसक झड़प की घटना सामने आई है. मामला महाराजगंज लोकसभा क्षेत्र से जुड़ा है, जिससे सटे छपरा के इसुआपुर में फायरिंग की घटना हुई है. गोलीबारी का आरोप राजद विधायक मुंद्रिका राय पर लगा है जबकि इस घटना में जख्मी होने वाला शख्स इसुआपुर के जिला पार्षद प्रियंका सिंह का देवर और भाजपा नेता प्रमोद सिंह है. उसे गोली मारने का आरोप राजद विधायक पर लगा है. हालांकि विधायक अपने-आप को निर्दोष बता रहे हैं लेकिन लोग हंगामा करने पर उतारू हैं. घटना इसुआपुर के सतासी गांव की है और विधायक भी इसी गांव के रहने वाले हैं.

ये भी पढ़ें- शिवहर में पोलिंग बूथ पर चली गोली, मतदान कर्मी घायल

बीजेपी नेता प्रमोद सिंह पर फायरिंग के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं ने राजद विधायक मुद्रिका राय पर हमला कर दिया और उन को बंधक बनाकर पिटाई की जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. बंधक बनाए गए विधायक को सारण एसपी हर किशोर राय भीड़ से बचाकर छपरा पुलिस लाइन लाए जहां उनका प्राथमिक उपचार किया गया. विधायक ने यहां अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है और साजिश के तहत हमला कराने का आरोप लगाया है.



ये भी पढ़ें- बिहार: लोकसभा चुनाव के छठे चरण के लिए मतदान जारी
पैसे बांटने के आरोपों पर विधायक ने सफाई देते हुए कहा है उनके पास बांटने के लिए कोई पैसे नहीं है वहीं महागठबंधन प्रत्याशी रणधीर सिंह ने कहा है कि अगर विधायक सुरक्षित नहीं है तो इस सरकार में आम जनता का क्या होगा.

रिपोर्ट- संतोष कुमार गु्प्ता

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsAppअपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज