लाइव टीवी

बिहार में बैलट बॉक्स से फिर निकलने लगा 'जिन्न'! पढ़ें क्या है पूरा मामला

News18 Bihar
Updated: December 14, 2019, 10:30 AM IST
बिहार में बैलट बॉक्स से फिर निकलने लगा 'जिन्न'! पढ़ें क्या है पूरा मामला
छपरा में पैक्स चुनाव के दौरान गड़बड़ियां पाई गईं.

जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने घटना का संज्ञान लेते हुए निर्देश दिया कि अमनौर कल्याण पैक्स चुनाव के मतगणना को तत्काल रोक लगाकर जांच कमेटी से परिणाम निकाला जाए. फिलहाल कल्याण पंचायत के पैक्स मतगणना को तत्काल रोक लगा दिया है

  • News18 Bihar
  • Last Updated: December 14, 2019, 10:30 AM IST
  • Share this:
छपरा. बिहार (Bihar) के छपरा (Chhapra) में पैक्स (PACS) चुनाव के दौरान एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहां अमनौर कल्याण पंचायत पैक्स चुनाव (Panchayat PACS Election) में 393 वोटरों ने मतदान (Voting) किया था, लेकिन गिनती में बैलट बॉक्स से 449 मतपत्र निकले जिसके बाद यहां हंगामा खड़ा हो गया. पूर्णतः सील मतपेटी से डाले गए कुल वोटों से 56 वोट अधिक निकले तो अध्यक्ष पद के परिणाम पर रोक लगा दी गई. यह घटना मतदान केंद्र संख्या 14 (क) प्रा॰वि॰ धोबाहीं के मतपेटी की है.

दरअसल मतदान केंद्र संख्या 14 (क) में कुल 393 वोट मतपेटी में डाला गया जबकि केवल अध्यक्ष पद के लिए डाला गया बैलेट 449 निकला. जिसको लेकर प्रत्याशी सुनिल तिवारी और नागेंद्र प्रसाद यादव उर्फ पप्पू यादव ने प्रखंड निर्वाचन पदाधिकारी से अनियमितता की शिकायत की.

मामला तब गंभीर हो गया जब प्रखंड निर्वाचन पदाधिकारी टाल-मटोल करने लगे. उक्त स्थिति देख काऊंटिंग पोलिंग एजेंट मुनचुन सिंह, रोहित कुमार ने जिलाधिकारी (डीएम) सुब्रत कुमार सेन को वस्तुस्थिति से अवगत कराते हुए कहा कि वर्तमान पैक्स अध्यक्ष को जितवाने के लिए मतपेटी पर लिखित से ज्यादा बैलेट पेपर निकला, इसकी निष्पक्षता से जांच होनी चाहिए.

डाले गए वोट से अधिक मतपत्र निकलने के बाद जिलाधिकारी ने चुनाव परिणाम पर रोक लगा दी है


पैक्स मतगणना पर तत्काल रोक लगाया गया

जिलाधिकारी सुब्रत कुमार सेन ने घटना का संज्ञान लेते हुए निर्देश दिया कि अमनौर कल्याण पैक्स चुनाव के मतगणना को तत्काल रोक लगाकर जांच कमेटी से परिणाम निकाला जाए. फिलहाल कल्याण पंचायत के पैक्स मतगणना को तत्काल रोक लगा दिया है.

बहरहाल प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला अगले आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. लेकिन लोग कह रहे हैं कि इस बार बैलेट की प्रतिष्ठा दांव पर लग गई है. क्योंकि आमतौर पर भी ईवीएम की वोटिंग पर लोग सवाल खड़े करते रहे हैं.(रिपोर्ट- संतोष कुमार गुप्ता)

ये भी पढ़ें:

CIPET हॉस्टल के खाने में मिली छिपकली, कई छात्र अस्पताल में भर्ती

CAB और NRC पर जारी सियासत के बीच ये हैं राजधानी पटना के अहम इवेंट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 14, 2019, 9:19 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर