ट्रेन का रूट डायवर्ट करने पर छपरा में हंगामा, पुलिस ने प्रवासी मजदूरों पर जमकर भांजी लाठियां
Saran News in Hindi

ट्रेन का रूट डायवर्ट करने पर छपरा में हंगामा, पुलिस ने प्रवासी मजदूरों पर जमकर भांजी लाठियां
छपरा जंक्शन पर हंगामा करते श्रमिक

छपरा जंक्शन (Chapra Junction) पर मजदूरों ने जमकर तोड़फोड़ और हंगामा किया. आरपीएफ (RPF) और जीआरपी (GRP) ने खदेड़ कर कुछ मजदूरों को पकड़ लिया जिन्हें बेरहमी से पीटा गया.

  • Share this:
छपरा. छपरा (Chapra) में श्रमिक एक्सप्रेस के मजदूरों ने जमकर हंगामा और पुलिस पर पथराव किया. मजदूर सूरत से मुजफ्फरपुर (Muzaffarpur) जा रही ट्रेन में सवार थे और जब ट्रेन छपरा पहुंची तो उसका रूट डायवर्ट कर दिया गया जिसके बाद मजदूर आक्रोशित हो गए. मजदूरों ने पहले रेल प्रशासन से मुजफ्फरपुर भेजने की मांग की और जब रेल प्रशासन ने कहा कि उन्हें दूसरे रूट से थावे होकर मुजफ्फरपुर जाना होगा तो मजदूर उग्र हो गए और पथराव शुरू कर दिया.

कई निर्दोष भी बने पुलिस के आक्रोश का निशाना

इसके बाद पुलिस ने बर्बरता की हदें पार कर दी. आरपीएफ और जीआरपी के जवानों ने निर्दोष मजदूरों को खदेड़-खदेड़ कर पीटा. दोनों पक्षों की तरफ से चले इस लाठीचार्ज और पथराव में जहां कई मजदूर घायल हो गए वहीं पुलिस के भी 3 जवान जख्मी हो गए. ट्रेन में सवार यात्री नेहा पांडे ने बताया कि उन्हें मुजफ्फरपुर जाना था. 21 मई को सूरत से चली ट्रेन में सवार नेहा पांडे ने बताया कि पूरे रास्ते में उन लोगों को परेशानियां झेलनी पड़ी. रास्ते में कुछ जगहों पर खाना मिला तो अधिकांश रास्ता भूखे ही तय करना पड़ा.



पत्रकारों से भी बदसलूकी



जब मुजफ्फरपुर पास आ गया तब ट्रेन को डायवर्ट करने की बात रेलवे प्रशासन ने कि जिसका विरोध तमाम मजदूरों ने किया. मजदूर रेलवे के पदाधिकारियों से बात करने गए थे तभी अचानक आरपीएफ के जवानों ने लाठीचार्ज कर दिया जिसके बाद मजदूर उग्र हो गए. उसके बाद छपरा जंक्शन पर मजदूरों ने जमकर तोड़फोड़ और हंगामा किया. आरपीएफ और जीआरपी ने खदेड़ कर कुछ मजदूरों को पकड़ लिया जिन्हें बेरहमी से पीटा गया. एक मजदूर को 20-20 आरपीएफ जवान पीटते रहे और रेलवे के वरीय अधिकारी मौके पर तमाशबीन बने रहे. इस दौरान मौके पर कवरेज कर रहे पत्रकारों को भी आरपीएफ के वरीय अधिकारियों ने निशाना बनाया.

डिलीट कराया मोबाइल का वीडियो

आरपीएफ के डिप्टी कमांडेंट ने कई पत्रकारों के साथ दुर्व्यवहार किया और जवानों ने पत्रकारों के मोबाइल से वीडियो भी डिलीट करवाया. इस पूरे हंगामे के दौरान प्रवासी मजदूर बेबस दिखाई पड़े जो कोरोना के कारण पिछले 5 दिनों से सफर में धक्के खा रहे थे. मौके पर पहुंची सदर एसडीओ अभिलाषा शर्मा के नेतृत्व में स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों और पुलिस जवानों ने स्थिति पर काबू पाया. अभिलाषा शर्मा ने तमाम मजदूरों को भोजन करवाया और उन्हें दूसरी ट्रेन से भेजने की बात कही जिसके बाद मजदूर शांत हो गए.

एसीडीओ ने संभाली स्थिति

आरपीएफ और जीआरपी ने कई मजदूरों को गिरफ्तार भी किया है हालांकि आरपीएफ और जीआरपी का कोई भी अधिकारी मीडिया से बात करने को तैयार नहीं हुआ. सदर एसडीओ अभिलाषा शर्मा ने कहा कि मजदूरों को सुरक्षित घर भेजना प्रशासन की प्राथमिकता है.

ये भी पढ़ें- गोपालगंज: RJD नेता के घर में घुसकर मां-पिता समेत तीन की हत्या, JDU विधायक पर लगा आरोप

ये भी पढ़ें- Bihar Live News: पटना से शुरू हुई विमान सेवा, इन शहरों के लिए हैं आज 17 फ्लाइट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading