Home /News /bihar /

जयप्रकाश विश्वविद्यालय में सामने आया आरक्षण घोटाला, आरक्षित सीट पर सामान्य छात्र का नामांकन

जयप्रकाश विश्वविद्यालय में सामने आया आरक्षण घोटाला, आरक्षित सीट पर सामान्य छात्र का नामांकन

जेपी यूनिवर्सिटी छपरा एक बार फिर विवादों में.

जेपी यूनिवर्सिटी छपरा एक बार फिर विवादों में.

Chhapra News: जयप्रकाश विश्वविद्यालय में स्नातक नामांकन में धांधली उजागर होने के बाद जब न्यूज 18 संवाददाता द्वारा यूनिवर्सिटी के पदाधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो कोई भी कैमरा के सामने आने को तैयार नहीं हुए. इसके बाद इस मामले में सीधे तौर पर जिम्मेदार यूएमआईएस के अधिकारी मो. हामिद भी बात करने को तैयार नहीं हुए. यही नहीं उन्होंने संवाददाता से दुर्व्यवहार भी किया. लेकिन, जब मामला तूल पकड़ने लगा और पीड़ित छात्रा वंदना के आरोप जांच में सही पाए गए तब विश्वविद्यालय के वीसी ने जांच के आदेश दिए. अब इस मामले की जांच का जिम्मा विश्वविद्यालय के नोडल पदाधिकारी सरफराज अहमद को मिला है. उनका कहना है कि जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

छपरा. जयप्रकाश विश्वविद्यालय का विवादों से चोली-दामन का रिश्ता है. इस बार स्नातक नामांकन में धांधली का मामला उजागर हुआ है. स्नातक नामांकन में आरक्षण रोस्टर की धज्जियां उड़ा दी गईं और आरक्षित कोटे के छात्रों को नामांकन से वंचित कर दिया गया. बताया जा रहा है कि बिना आरक्षण वाले कई छात्र कम नंबर होने के बावजूद नामांकन पाने में सफल रहे. यूनिवर्सिटी इनफॉरमेशन मैनेजमेंट सिस्टम के जिम में जयप्रकाश विश्वविद्यालय में नामांकन का ऑनलाइन कार्य है और आरोप है कि इसमें बड़े पैमाने पर धांधली की गई है. छात्र संगठन एसएफआई ने ऐसे 50 छात्रों की सूची जारी की है जिनके नामांकन में आरक्षण और मेधा सूची का ध्यान नहीं रखा गया और इन छात्रों को नामांकन से वंचित कर दिया गया. वहीं, रसूख वाले लोगों का नामांकन अवैध तरीके से कर लिया गया.

इस मामले में परसा स्थित पीएन कॉलेज की एक पीड़ित छात्रा ने विश्वविद्यालय के समक्ष अपनी शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद कुलपति के प्रारंभिक जांच में छात्रा की शिकायत सही पाई गई. अब विश्वविद्यालय प्रशासन ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए हैं. एसएफआई के प्रदेश अध्यक्ष शैलेंद्र यादव ने कहा है कि 50 मामला उनके संज्ञान में आया है जबकि अन्य मामले भी हैं, जिसके बारे में वे पता कर रहे हैं.

उधर, जयप्रकाश विश्वविद्यालय में स्नातक नामांकन में धांधली उजागर होने के बाद जब न्यूज 18 संवाददाता द्वारा जयप्रकाश विश्वविद्यालय के पदाधिकारियों से बात करने की कोशिश की तो कोई भी कैमरा के सामने आने को तैयार नहीं हुए. इसके बाद इस मामले में सीधे तौर पर जिम्मेदार यूएमआईएस के अधिकारी मो. हामिद भी बात करने को तैयार नहीं हुए. यही नहीं उन्होंने संवाददाता से दुर्व्यवहार भी किया.

हालांकि, जब मामला तूल पकड़ने लगा और पीड़ित छात्रा वंदना के आरोप जांच में सही पाए गए तब विश्वविद्यालय के वीसी ने इसकी जांच के आदेश दिए. बहरहाल, इस मामले की जांच का जिम्मा विश्वविद्यालय के नोडल पदाधिकारी सरफराज अहमद को मिला है. उनका कहना है कि जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी.

Tags: Bihar latest news, Bihar News in hindi, Caste Reservation, Chhapara, Chhapra News, Reservation, Reservation in jobs, Reservation news, Saran News

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर