बिहार: DM की वैक्सीनेशन अपील को कर्मचारी ने किया था अनसुना, कोरोना से हुई मौत

छपरा में कर्मचारी की मौत के बाद शोक सभा में उपस्थित लोग

छपरा में कर्मचारी की मौत के बाद शोक सभा में उपस्थित लोग

Chapra News: प्रकाश पांडेय जिला में आपदा प्रबंधन विभाग में बतौर क्लर्क काम करते थे. उनके निधन के बाद समाहरणालय में शोकसभा का आयोजन किया गया. छपरा में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और यह आंकड़ा 18 हजार से अधिक है

  • Share this:

छपरा. कोरोना काल में आए दिन सरकारी कर्मचारियों की भी संक्रमण (Corona Infection) से मौत हो रही है. सरकारी कर्मचारियों के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार ने सभी सरकारी कर्मियों को टीका (Corona Vaccination) लगाने का आह्वान किया है लेकिन इसके बावजूद कर्मचारी लापरवाही बरत रहे हैं, जिसका खामियाजा खुद कर्मचारियों को भुगतना पड़ रहा है.

ऐसा ही एक मामला बिहार के छपरा से आया है जहां आपदा प्रबंधन विभाग के कर्मचारी प्रकाश पांडे की मौत बीती रात कोरोना से हो गई. डीएम नीलेश रामचंद्र देवड़े ने इसकी जानकारी देते हुए कहा उन्हें अफसोस है कि प्रकाश पांडे ने टीकाकरण नहीं कराया था, अन्यथा उनकी मौत शायद नहीं होती. डीएम नीलेश रामचंद्र देवड़े ने कहा कि कई जिलों से ऐसी खबरें आई थी जहां प्रशासन ने टीकाकरण नहीं कराने वालों का वेतन रोक दिया गया है लेकिन उन्होंने ऐसी कोई कार्रवाई नहीं की क्योंकि वह जानते थे कि कोरोना काल में लोगों के पैसे की जरूरत पड़ती है.

Youtube Video

DM ने अपने सभी कर्मचारियों से मार्मिक अपील की है कि टीकाकरण जरूर कराएं. गौरतलब है कि छपरा में अब तक कई कर्मचारियों की मौत कोरोना से हो चुकी है जिसके बाद डीएम ने यह मार्मिक अपील की है. प्रकाश पांडे आपदा प्रबंधन विभाग में बतौर क्लर्क काम करते थे. उनके निधन के बाद समाहरणालय में शोकसभा का आयोजन किया गया. छपरा में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और यह आंकड़ा 18 हजार से अधिक है, हालांकि 4000 एक्टिव केस अभी तक हैं. कोरोना के मामले अब कम सामने आ रहे हैं और बीते 24 घंटे में सिर्फ 221 मामले सामने आए हैं जो कि राहत देने वाले हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज