त्रिपुरा में बिहारी छात्रों पर बरपा कहर, रैगिंग के दौरान नवोदय विद्यालय में हुई पिटाई

शनिवार की रात विद्यालय में आठ छात्रों के साथ सीनियर छात्रों ने रैगिंग की. उन सभी को कमरे में बंद कर रॉड और बेल्ट से बेरहमी से पीटा गया.

News18 Bihar
Updated: August 12, 2019, 10:52 AM IST
त्रिपुरा में बिहारी छात्रों पर बरपा कहर, रैगिंग के दौरान नवोदय विद्यालय में हुई पिटाई
रैगिंग के दौरान की गई पिटाई से घायल छात्र
News18 Bihar
Updated: August 12, 2019, 10:52 AM IST
बिहार के आठ बच्चों (Students) को त्रिपुरा के नवोदय विद्यालय (Navoday School) में सीनियर छात्रों द्वारा पीटे जाने का मामला सामने आया है. पीड़ित बच्चे सारण (Saran) के रहने वाले बताए जाते हैं. इस मामले में एसपी (SP) ने हस्तक्षेप किया है और बच्चों को वापस भेजने के लिए प्राचार्य (Head Master) से बातचीत की है. एसपी की पहल के बाद बच्चों का सम्पर्क परिजनों (Guardians) से हुआ और उन्होंने खुद को सुरक्षित बताया है.

माइग्रेट किए गए थे बच्चे

सभी बच्चे सारण (Saran) के दरियापुर देवती नवोदय विद्यालय से माइग्रेट (Migrated) किए गए थे. ऐसा नियम है कि सांस्कृतिक आदान-प्रदान के तहत अलग-अलग नवोदय विद्यालयों में बच्चे भेजे जाते हैं और वहां के बच्चे बुलाए जाते हैं, इसी क्रम में सारण जिले के दरियापुर देवती नवोदय विद्यालय कक्षा नौवीं के छात्रों को त्रिपुरा नवोदय विद्यालय में माइग्रेट किया गया था.

पहले कमरे में बंद किया फिर बेल्ट और रॉड से पीटा

शनिवार की रात विद्यालय में आठ छात्रों के साथ सीनियर छात्रों ने रैगिंग की. उन सभी को कमरे में बंद कर रॉड और बेल्ट से बेरहमी से पीटा गया. बेसुध होने और चिल्लाने पर वहां शिक्षक पहुंचे और इसकी जानकारी मिलने पर त्रिपुरा की पुलिस भी पहुंची और जांच की. इस सूरत में सारण जिले के इन छात्रों के अभिभावकों ने सारण एसपी से मिलकर बच्चों को सलामत घर बुलाने की मांग की.

बिहारी छात्रों की त्रिपुरा में पिटाई
त्रिपुरा के नवोदय विद्यालय में पिटाई में घायल हुआ छात्र.


एसपी ने किया हस्तक्षेप
Loading...

एसपी के हस्तक्षेप के बाद त्रिपुरा नवोदय विद्यालय प्रबंधन बच्चों को वापस भेजने की कवायद में जुट गया है. रिविलगंज नावादा गांव निवासी सुनील कुमार सिंह ने बताया कि उनके पुत्र शोभित राज की वहां के सीनियर छात्रों ने बेरहमी से पिटाई की है, जिससे वह बुरी तरह से घायल है. उन्होंने बताया कि इसके पहले भी वहां पर कई बार घटना घट चुकी है, जिसको लेकर सारण के डीएम को कुछ दिन पहले अभिभावकों ने ज्ञापन देकर अवगत कराया था.

वापस आएंगे बच्चे

नेवाजी टोला निवासी अभिषेक के पुत्र जय कुमार को भी बेरहमी से पीटा गया है. रैगिंग की इस घटना को रोकने के लिए अभी तक कोई ठोस कदम नहीं उठाने पर वहां की सरकार से कार्रवाई की मांग की गई है. एसपी हर किशोर राय ने बच्चों के परिजनों से शिकायत मिलने के बाद विद्यालय के प्राचार्य से बात की जिसके बाद विद्यालय प्रबंधन ने बच्चों को वापस भेजने की सहमति दे दी है.

रिपोर्ट- संतोष कुमार गुप्ता

ये भी पढ़ें- रेप का प्रयास करने वाले को भीड़ ने दबोचा, फिर किया ये हाल

ये भी पढ़ें- नेपाल के कांवरियों से भरी बस पलटी, एक की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सारण से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 12, 2019, 9:24 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...