Home /News /bihar /

नालंदा के बाद अब छपरा में शराब त्रासदी ! मृतक की पत्नी ने डीएसपी से कहा- दारू जान ले लेलस

नालंदा के बाद अब छपरा में शराब त्रासदी ! मृतक की पत्नी ने डीएसपी से कहा- दारू जान ले लेलस

बिहार के छपरा में तीन लोगों की संदिग्ध मौत के बाद जमा भीड़

बिहार के छपरा में तीन लोगों की संदिग्ध मौत के बाद जमा भीड़

Chapra News: छपरा में तीन लोगों की मौत के बाद शराब का प्रकरण सामने आ रहा है. जिन लोगों ने जान गंवाई है उनके परिजनों का कहना है कि मौत की वजह शराब ही है लेकिन इस मामले में जिला प्रशासन और पुलिस जांच के बाद ही कुछ कहने की बात दोहरा रहा है. बिहार के ADG लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह के मुताबिक स्थानीय प्रशासन से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक ठंड से मौत होने की बात प्रतीत होता है

अधिक पढ़ें ...

छपरा. छपरा के अमनौर में संदेहास्पद परिस्थितियों में एक साथ तीन लोगों की मौत (Suspicious Death In Chapra) और कई लोगों के बीमार होने से सवाल खड़े हो गए हैं. घटना के बाद पुलिस ने इन मौतों को अफवाह बताया था लेकिन धीरे-धीरे अब इस कांड के पीड़ित सामने आ रहे हैं और जो कहानी बता रहे हैं उसे ऐसा लग रहा है कि कहीं ना कहीं इन घटनाओं के तार शराब से जुड़े हुए हैं. इन मौतों को शराब से जोड़ कर देखा जा रहा है लेकिन पुलिस ने पहली नजर में ही घटनाओं को अफवाह बता दिया, हालांकि धीरे-धीरे पीड़ितों के मिलने का सिलसिला शुरू हुआ तो पुलिस ने अब चुप्पी साध ली है.

मढौरा के डीएसपी के सामने ही रामनाथ राय (मृतक) की पत्नी ने इस पूरे कांड की पोल खोल दी है. मृतक की पत्नी लालती देवी का कहना है कि काम से लौटने के बाद जनता बाजार में 60 वर्षीय रामनाथ राय ने शराब पी और उसके बाद जब घर लौटे उनकी तबीयत बिगड़ी और उनकी मौत हो गई. कुछ ऐसे ही हालात मोहम्मद ईशा के साथ भी सामने आए. बुधवार की अहले सुबह बसन्तपुर बंगला गांव के मो अली मिया के पुत्र मोहमद ईशा की तबियत भी बिगड़ गई. बताया जा रहा है कि मोहम्मद ईशा ने भी उसी इलाके में शराब का सेवन किया था जिसके बाद इनकी तबीयत गई और उपचार के दौरान इनकी मौत हो गई.

शराब पीने से इसी गांव के मालिक महतो के 35 वर्षीय पुत्र पलटन महतो की आखों की रौशनी गायब है जिनका उपचार मुज्जफरपुर के एक निजी अस्पताल में कराया जा रहा है. बीते 24 घंटे के अंदर तीन लोगों की मौत की और कई लोगों के बीमार होने का मामला सामने आने के बाद विपक्ष को सरकार पर हमला बोलने का मौका मिल गया है. दरौली के विधायक सत्यदेव राम ने प्रभावित गांवों का दौरा किया है और पीड़ितों से मुलाकात के बाद सरकार को शराबबंदी में पूरी तरह से विफल बताया है.

इस मामले में जिला प्रशासन कुछ भी कहने से बच रहा है. सारण के डीएम राजेश मीणा ने कहा कि उन्हें जानकारी मिली है और अब तक दो लोगों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, जिसमें एक की रिपोर्ट आ चुकी है और उसमें शराब से मौत की पुष्टि नहीं हुई है जबकि दूसरे की रिपोर्ट आनी बाकी है. उन्होंने कहा है कि वो इस पूरे मामले की गहन जांच करा रहे हैं और जांच में जो भी मामला सामने आएगा उसके आधार पर कार्रवाई भी की जाएगी. डीएम ने कहा कि अभी तक जहरीली शराब कांड का मामला संदिग्ध प्रतीत हो रहा है जिसकी जांच जारी है.

इस मामले में बिहार के ADG लॉ एंड ऑर्डर संजय सिंह के मुताबिक स्थानीय प्रशासन से जो जानकारी मिली है उसके मुताबिक ठंड से मौत होने की बात प्रतीत होता है हालांकि सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है. साथ ही साथ इनका यह भी कहना है कि चुकी शराब सिंडीकेट में एक बड़ा तंत्र काम कर रहा है इसलिये ऐसी घटनाएं सामने कई बार आई है और हमलोग लगातार इस बात की अपील आमजनों से कर रहे है कि आप शराब का सेवन ना करें.

Tags: Bihar News, Chapra news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर