बिहार: कोरोना काल में तड़प-तड़प कर मर गया शख्स, किसी ने हाथ नहीं लगाया तो JCB पर निकली शव यात्रा

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

Chapra News: बिहार के छपरा में कुछ समाजसेवियों की मदद से शव को अंतिम संस्कार के तहत दफनाया गया. जानकारी के मुताबिक मौत के बाद युवक के शव को कुत्ते खींच कर ले जा रहे थे जिसपर लोगों की नजर पड़ी.

  • Share this:

छपरा. कोरोना काल मे लोग जरूरतमंद की मदद करने से भी कतरा रहे हैं. ऐसी ही एक तस्वीर बिहार के छपरा (Chapra) जिले से आई है जहां मांझी के सलेमपुर उत्क्रमित मध्य विद्यालय के बरामदे में पड़े एक युवक ने इलाज के आभाव में दम तोड़ ही दिया. कई दिनों से युवक विद्यालय के बरामदे में पड़ा था. इस सूचना के बाद भी स्वास्थ्य विभाग ने कोई सुध ही नहीं लिया जिस कारण उसकी तड़प-तड़प कर मौत हो गई.

मौत होते ही कुत्ते उसके शव को खींचकर झाड़ी में ले गए और नोंच-नोंचकर खाने लगे जिसकी सूचना पूर्व जिला परिषद सदस्य धर्मेंद्र सिंह समाज को मिली. उन्होंने प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग को सूचित किया जिस पर थानाध्यक्ष ओम प्रकाश चौहान ने दल बल के साथ पहुंचकर ग्रामीणों के सहयोग से शव को जेसीबी के माध्यम से गड्ढा खोदकर अंतिम संस्कार करवा दिया.

प्राप्त जानकारी के अनुसार पूर्व जिप सदस्य धर्मेन्द्र सिंह समाज ने तीन दिनों पूर्व मांझी के थानाध्यक्ष ओम प्रकाश चौहान तथा मांझी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ रोहित कुमार को फोन करके सलेमपुर उत्क्रमित मध्य विद्यालय परिसर में एक अज्ञात विक्षिप्त के गिरे पड़े होने की सूचना दी थी. उन्होंने बीमार विक्षिप्त को खिलाने- पिलाने का प्रयास भी किया लेकिन उसने खाना नहीं खा पाने का इशारा कर मना कर दिया.

Youtube Video

थानाध्यक्ष ने दोबारा चिकित्सा पदाधिकारी को फोन करके एम्बुलेंस के सहारे बीमार विक्षिप्त को इलाज हेतु पीएचसी में एडमिट कराने का अनुरोध किया लेकिन स्वास्थ्य प्रशासन ने उसे गम्भीरता से नहीं लिया. अंततः शनिवार की रात विक्षिप्त ने विद्यालय के सामने ही दम तोड़ दिया. ग्रामीणों ने रविवार की सुबह पुलिस को विक्षिप्त की मौत की सूचना स्थानीय थाना पुलिस को दी और पोस्टमार्टम कराने का आग्रह किया.

मानवता को शर्मसार करने वाली इस घटना से नाराज ग्रामीणों ने छपरा के सिविल सर्जन को फोन कर मांझी पीएचसी कर्मियों पर संवेदनहीनता का आरोप लगाया. बाद में थानाध्यक्ष ओम प्रकाश चौहान के समझाने बुझाने के बाद ग्रामीण शव को दफनाने पर राजी हो गए. उसके बाद पुलिस ने जेसीबी की सहायता से क्षत- विक्षत शव को दफना दिया. मौके पर पूर्व जिप सदस्य धर्मेन्द्र सिंह समाज सहित कई नेता भी मौजूद थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज