VIDEO: छपरा में छाए जयशंकर, कबाड़ से ऐसे बनाई ई-साइकिल
Viral News in Hindi

डाककर्मी जयशंकर ने महज 12 हजार में अपनी कबाड़ हो चुकी साइकिल को ई-साइकिल में तब्दील कर दिया. जयशंकर की साइकिल को देखने वाले दांतो तले उंगलियां दबा रहे क्योंकि इस साइकिल में वह तमाम सुविधाएं मौजूद है जो एक महंगी ई-बाइक में होती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2019, 5:06 PM IST
  • Share this:
छपरा के प्रधान डाकघर के तकनीकी सहायक जयशंकर ओझा की जिंदगी अब आसान हो गई है. पैर से चलने में तकलीफ हुई तो इन्होंने अपने कबाड़ हो चुकी साइकिल को ई-साइकिल में तब्दील कर दिया. इसके लिए जय शंकर को काफी मशक्कत करनी पड़ी.

ये भी देखें- एक विवाह ऐसा भी: एक शादी पुलवामा के शहीदों के नाम, ऐसे निकली बारात

डाककर्मी जयशंकर ने महज 12 हजार में अपनी कबाड़ हो चुकी साइकिल को ई-साइकिल में तब्दील कर दिया. जयशंकर की साइकिल को देखने वाले दांतो तले उंगलियां दबा रहे क्योंकि इस साइकिल में वह तमाम सुविधाएं मौजूद है जो एक महंगी ई-बाइक में होती है.



पार्टस जुटाने के लिए कई वेबसाइटों का सहारा लेना पड़ा लेकिन जयशंकर ने हार नहीं मानी और आज जब इनकी ई-साइकिल तैयार है, देखने वाले इनकी प्रशंसा करते नहीं थक रहे. जयशंकर अपनी ई साइकिल के साथ जहां भी जाते हैं लोग इनकी ई-साइकिल को देखने के लिए भीड़ लगा देते हैं.



जयशंकर की ई-साइकिल एक बार चार्ज करने में 30 किलोमीटर तक जाती है जिसमें इंधन का खर्च नहीं के बराबर होता है. खास बात यह है कि चार्जिंग खत्म होने के बाद आप इस साइकिल को पेंडल मारकर भी चला सकते हैं.

जयशंकर ने साइकिल को ई-साइकिल में तब्दील कर एक अनोखी मिसाल पेश की है. हालांकि अभी भी कम लोग ई-साइकिल के तरफ आकर्षित हो रहे हैं क्योंकि ये साइकिलें काफी महंगी बिक रही हैं. ऐसे में जयशंकर का यह प्रयास मील का पत्थर साबित हो सकता है.

रिपोर्ट- संतोष गुप्ता

ऐसी ही अजब-ग़ज़ब कहानियों और VIDEOS के लिए क्लिक करें 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading