बिहार: ...जब इंसानों से मदद की गुहार लगाने लगा जख्मी बंदर! जानें फिर लोगों ने क्या किया

छपरा में घायल बंदर की देखभाल करते हुए युवक.

छपरा में घायल बंदर की देखभाल करते हुए युवक.

Chhapra News: मशरक थाना क्षेत्र के कवलपुरा पंचायत के किशुनपुरा गांव मे अज्ञात लोगों ने बंदर को धारदार हथियार से मार घायल कर दिया. घायल अवस्था में बदंर किशुनपुरा गांव में पहुंच गया.

  • Share this:

छपरा. आमतौर पर कोई भी जख्मी बंदर लोगों पर हमला कर देता है, लेकिन छपरा में अजीबोगरीब मामला देखने को तब मिला जब यह बंदर लोगों से मदद की गुहार लगाने लगा. धारदार हथियार से किए गए हमले के कारण जख्मी बंदर की इस हरकत पर सभी हैरत में पड़ गए. इसके बाद कुछ लोग जख्मी हालत में मदद मांग रहे बंदर को इलाज के लिए मवेशी अस्पताल लेकर गए,  लेकिन वहां डॉक्टर नहीं मिले. इसके बाद लोग खुद ही अब इस बंदर की देखभाल कर रहे हैं. बंदर भी लोगों से काफी घुलमिल गया है.

बताया जा रहा है कि मशरक थाना क्षेत्र के कवलपुरा पंचायत के किशुनपुरा गांव मे अज्ञात लोगों ने बंदर को दाब (बांस काटने वाला धारदार हथियार) से मार घायल कर दिया. घायल अवस्था में बदंर किशुनपुरा गांव में पहुंच गया. बंदर की दशा देख किशुनपुरा गांव के ही युवकों ने मानवता का परिचय देते हुए घायल बंदर को इलाज के लिए  वेटनरी डाक्टर से अपने नीजी कोष से दवा करा अपने घर सेवाभाव से रखकर सेवा कर रहे हैं.

चर्चा का विषय बनी बंदर की हरकत

इस बंदर को बचाने वाले किशुनपुरा गांव के राजु महतो, जितेन्द्र साव , गोविंदा कुमार, मुकेश कुमार,सिकेन्द्र कुमार आदि युवा शामिल है. इलाज कराकर अपने गांव के बगीचे में बन्दर को रखकर सेवा कर रहे हैं. बहरहाल इस बंदर के मदद मांगने के लिए गुहार लगाने का अंदाज चर्चा का विषय बना हुआ है. हालांकि लोगों की परेशानी वेटरनरी अस्पताल को लेकर है जहां बीमार जानवरों के इलाज में लापरवाही बरती जा रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज