लाइव टीवी

CAA Protest: गया का शांतिबाग बनता दिख रहा है बिहार का शाहीनबाग

arun kumar | News18Hindi
Updated: January 23, 2020, 10:47 PM IST
CAA Protest: गया का शांतिबाग बनता दिख रहा है बिहार का शाहीनबाग
यह धरना 24 घंटे चल रहा है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहते हैं. यहां के धरना में भी शाहीनबाग की तरह ही महिलाओं की भूमिका विशेष रूप में देखी जा रही है. प्रदर्शनकारियों के खाने-पीने की व्यवस्‍था भी यहीं की गई है. (फाइल फोटो)

दिल्ली के शाहीनबाग की तर्ज पर अब गया के शांतिबाग में भी विरोध का स्वर बढ़ता जा रहा है. शांतिबाग को अब बिहार का शाहीनबाग की संज्ञा दी जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2020, 10:47 PM IST
  • Share this:
गया. संशोधित नागरिकता कानून को लेकर देश में विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है. कुछ ऐसा ही हाल बिहार का भी है. यहां पर लगातार विपक्ष CAA और एनपीआर का लगातार विरोध कर रहे हैं. दिल्ली के शाहीनबाग की तर्ज पर अब गया के शांतिबाग में भी विरोध का स्वर बढ़ता जा रहा है. शांतिबाग को अब बिहार का शाहीनबाग की संज्ञा दी जा रही है. यहां 29 दिसंबर 2019 से ही सीएए, एनपीआर और एनआरसी के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना दिया जा रहा है. इस धरने में राजनीतिक और गैर राजनीतिक दलों के लोग शामिल हो रहे हैं.

24 घंटे चल रहा है धरना
यह धरना 24 घंटे चल रहा है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोग मौजूद रहते हैं. यहां के धरना में भी शाहीनबाग की तरह ही महिलाओं की भूमिका विशेष रूप में देखी जा रही है. प्रदर्शनकारियों के खाने-पीने की व्यवस्‍था भी यहीं की गई है. इस आंदोलन को समर्थन देने के लिए सबसे पहले बिहार विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष उदयनारायण चौधरी पहुंचे थे और उसके बाद पूर्व सांसद नेता पप्पू यादव ने यहां से केन्द्र सरकार के साथ ही सीएम नीतीश, तेजस्वी समेत अन्य नेताओं पर निशाना साधा था. पप्पू यादव के समर्थन के बाद विपक्ष की राजनीतिक पार्टियों के नेताओं के यहां पर आने की होड़ लग गई है. अभी तक इस अनिश्चितकालीन धरने में बिहार विधानमंडल के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, पूर्व राज्यपाल सह कांग्रेस नेता निखिल कुमार सिंह, बिहार के पूर्व सीएम जीतनराम मांझी, सीपीआई के राष्ट्रीय नेता अतुल कुमार अंजान, नेत्री अमरजीत कौर, जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार, माकपा की वरिष्ठ नेत्री वृंदा कारात, बिहार विधान परिषद के पूर्व अध्यक्ष सलीम परवेज, किशनगंज के कांग्रेस सांसद मोहम्मद जावेद, पूर्व मंत्री सह राजद विधायक सुरेन्द्र यादव, पूर्व मंत्री नागमणि, पूर्व मंत्री कांति सिंह, कांग्रेस की पूर्व सांसद रंजीता रंजन, तारिक अनवर, बोधगया विधायक कुमार सर्वजीत, बाराचट्टी विधायक समत देवी समेत कई नेता शामिल हो चुके हैं.

योगी की सभा का किया था विरोध

गौरतलब है कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ सीएए के समर्थन में गांधी मैदान में सभा कर चुके हैं और इस दौरान कुछ लोगों ने काला गुब्बारा उड़ाकर प्रतीकात्मक रूप से उनका विरोध भी किया था. योगी आदित्यनाथ की सभा के बाद से यहां का शांतिबाग विरोधी दलों की राजनीति का केन्द्र बन गया है और आए दिन कोई न कोई राष्ट्रीय या राज्य स्तर का नेता यहां आकर केन्द्र की मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है.

ये भी पढ़ेंः पटना वासियों के लिए खुशखबरी, अब एक नहीं तीन पांच सितारा होटलों का होगा निर्माण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए गया से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 10:47 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर