लाइव टीवी

चिराग की चेतावनी- राम मंदिर और ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों से NDA को हो सकता है नुकसान

News18Hindi
Updated: January 5, 2019, 11:16 PM IST
चिराग की चेतावनी- राम मंदिर और ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दों से NDA को हो सकता है नुकसान
सांसद चिराग पासवान (फाइल फोटो)

चिराग की टिप्पणियां ऐसे समय में आई हैं, जब ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर संसद में हंगामा हो रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2019, 11:16 PM IST
  • Share this:
बिहार में बीजेपी की सहयोगी लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) ने राम मंदिर निर्माण और ट्रिपल तलाक जैसे विवादित मुद्दों को लेकर आशंका जताई है कि एनडीए को इससे नुकसान हो सकता है. इससे पहले जेडीयू ने कहा था कि वह ट्रिपल तलाक मुद्दे पर राज्यसभा में वोटिंग प्रोसेस में हिस्सा नहीं लेगी.

जमुई से सांसद और एलजेपी संसदीय दल के अध्यक्ष चिराग पासवान ने शेखपुरा में  कहा, 'एनडीए के लिए विकास ही चुनावी मुद्दा होना चाहिए. मुझे यकीन है कि इससे गठबंधन को बिहार की 40 सीटों में से 35 जीतने में मदद मिलेगी. मुझे उम्मीद है कि चुनाव विकास के मुद्दे पर ही लड़ा जाएगा और राम मंदिर एवं ट्रिपल तलाक जैसे मुद्दे किनारे रखे जाएंगे. इससे गठबंधन की संभावनाओं को नुकसान हो सकता है.'

केंद्रीय मंत्री एवं एलजेपी के संस्थापक अध्यक्ष रामविलास पासवान के बेटे चिराग ने पिछले महीने उस वक्त भी ऐसी टिप्पणियां की थी जब बीजेपी को राजस्थान, मध्य प्रदेश एवं छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में हार का सामना करना पड़ा था.

ये भी पढ़ें-  तेजप्रताप के बयान पर बोले तेजस्वी, राष्ट्रीय अध्यक्ष तय करेंगे पाटलिपुत्र का उम्मीदवार

चिराग ने यह टिप्पणियां ऐसे समय में की हैं, जब ट्रिपल तलाक के मुद्दे पर संसद में हंगामा हो रहा है. वहीं, राज्य में बीजेपी की एक अन्य सहयोगी जेडीयू ने कहा था कि वह ट्रिपल तलाक मुद्दे पर राज्यसभा में वोटिंग प्रोसेस में हिस्सा नहीं लेगी.

ये भी पढ़ें- पाटलिपुत्र सीट पर घमासान: भाई वीरेंद्र ने खुद को बताया RJD का वफादार सिपाही

राज्यसभा सांसद और बिहार प्रदेश जेडीयू के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा था कि ट्रिपल तलाक के पक्ष में हम लोग अभी नहीं हैं. गौरतलब है कि जेडीयू ने लोकसभा में तीन तलाक के मुद्दे पर वोटिंग के दौरान वॉक आउट किया था.
Loading...

जेडीयू के बिहार अध्यक्ष ने कहा था कि ऐसा इसलिए क्योंकि एक बड़े समुदाय की परंपरा में कुछ तौर तरीके बने हुए हैं. इस ट्रिपल तलाक से लाखों महिलाएं प्रभावित होंगी. इस पर उस समुदाय के लोगों से उनकी भावनाओं के साथ बातचीत करके एक समाधान निकालना चाहिए.
(एजेंसी इनपुट के साथ)

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शेखपुरा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 5, 2019, 8:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...