Home /News /bihar /

बिहार: DM इनायत खान की पैनी नजर से नहीं बच पाए मनरेगा के घोटालेबाज, 25 पर FIR

बिहार: DM इनायत खान की पैनी नजर से नहीं बच पाए मनरेगा के घोटालेबाज, 25 पर FIR

Sheikhpura News: बिहार के शेखपुरा में मनरेगा योजना में मृत व्यक्तियों के नाम पर फर्जी तरीके से पैसा निकालने का मामला सामने आया है.

Sheikhpura News: बिहार के शेखपुरा में मनरेगा योजना में मृत व्यक्तियों के नाम पर फर्जी तरीके से पैसा निकालने का मामला सामने आया है.

Sheikhpura News: बिहार के शेखपुरा जिले में विकास योजनाओं के सफल संचालन के लिए यहां की डीएम और युवा IAS अफसर इनायत खान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ से तारीफ मिल रही है. वहीं दूसरी ओर शेखपुरा जिले में ही मनरेगा योजना के तहत मृत लोगों के नाम से अवैध धन निकासी की बड़ी गड़बड़ी का खुलासा हुआ है. इस मामले में जिलाधिकारी के आदेश पर पूर्व मुखिया पंकज कुमार समेत 25 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है.

अधिक पढ़ें ...

शेखपुरा. बिहार के शेखपुरा जिले के बरबीघा प्रखंड की केवटी पंचायत में एक बड़ा घोटाला सामने आया है. इस पंचायत के पूर्व मुखिया और कुछ अन्य लोगों ने मनरेगा योजना (MGNREGA Scheme) में मृत व्यक्तियों के नाम पर फर्जी तरीके से धनराशि निकाल ली. लेकिन जिले की डीएम इनायत खान (DM Inayat Khan) की नजर से ये घोटालेबाज बच नहीं सके. जिलाधिकारी के आदेश पर प्रखंड कार्यक्रम पदाधिकारी ने बरबीघा थाने में 25 लोगों के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है. इसमें पूर्व मुखिया पंकज कुमार, तत्कालीन पंचायत रोजगार सेवक मृत्युंजय कुमार, वार्ड सदस्य, मनरेगा मेट, सीएसपी संचालक सहित अन्य लोगों को अभियुक्त बनाया गया है.

डीएम इनायत खान (DM Inayat Khan) के आदेश पर दर्ज प्राथमिकी के बाद प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर दी है. जानकारी के मुताबिक, बरबीघा प्रखंड के डीहनिजामत गांव के सुधांशु प्रसाद के पुत्र रिंटू कुमार ने सीपीजी आरएएमएस से संबंधित परिवाद दायर किया था. इसमें मृत व्यक्तियों के नाम पर अवैध धन निकासी की शिकायत की गई है. शिकायत में कहा गया है कि केवटी पंचायत में मनरेगा के तहत पुराने पुल के नाम पर ही नई योजना में मृत लोगों के नाम शामिल किए गए और उनके नाम से अवैध निकासी कर ली गई. रिंटू कुमार ने इसी गड़बड़ी की शिकायत की है.

DM इनायत खान ने कराई जांच

शिकायत के बाद जिलाधिकारी इनायत खान के निर्देश पर जिला डीआरडीए के निदेशक एवं मनरेगा के सहायक अभियंता की संयुक्त जांच टीम बनी. टीम ने ग्राम पंचायत केवटी में मनरेगा के तहत चल रही योजनाओं की जांच की, जिसमें उक्त शिकायत की पड़ताल के दौरान पता चला कि कुछ योजनाओं में मजदूरी के भुगतान में गड़बड़ी है. बैजनाथपुर गांव की मृतका कोसमा देवी एवं फुलिया देवी के नाम पर अवैध निकासी का मामला सामने आया. कोसमा देवी के खाते पर 54,598 रुपए, जबकि फुलिया देवी के खाते पर 34,951 रुपए भेजे गए थे. शेखोपुरसराय प्रखंड के तीन सीएसपी संचालकों की मदद से यह अवैध निकासी की गई.

जिलाधिकारी के निर्देश पर हुई प्राथमिकी

मनरेगा योजना के तहत हुई इस गड़बड़ी के सामने आने के बाद इसके बारे में ग्रामीण विकास विभाग को भी सूचना दी गई. पटना तक खबर जाने के बाद विभाग ने गलत भुगतान पर कार्रवाई का निर्देश दिया. तब शेखपुरा डीएम के आदेश पर इस मामले में दोषी पाए गए कर्मियों एवं जनप्रतिनिधियों पर प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश जारी किया गया.

Tags: Bihar News, MNREGA, Scam

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर