Home /News /bihar /

इस देवी के दर्शन के लिए सवर्णों और महादलितों में हर साल होता है 'महायुद्ध'

इस देवी के दर्शन के लिए सवर्णों और महादलितों में हर साल होता है 'महायुद्ध'

अंत में महादलित मंदिर में प्रवेश कर जाते हैं और मां महेश्वरी का पूजा अर्चना करते हैं.

अंत में महादलित मंदिर में प्रवेश कर जाते हैं और मां महेश्वरी का पूजा अर्चना करते हैं.

बिहार (Bihar) के शेखपुरा (Sheikhpura) में एक ऐसा मंदिर है जहां नवरात्रि के मौके पर पूजा करने के लिए महादलित और सवर्णों के बीच 'महायुद्ध' होता है.

    शेखपुरा. बिहार (Bihar) के शेखपुरा (Sheikhpura) में एक ऐसा मंदिर है जहां नवरात्रि के मौके पर पूजा करने के लिए महादलित और सवर्णों के बीच 'महायुद्ध' होता है. लेकिन अंत में महादलित मंदिर में प्रवेश कर जाते हैं और मां महेश्वरी का पूजा अर्चना करते हैं. इसमें सवर्ण जाति के लोग भी सहयोग करते हैं. यह परंपरा सैकड़ों वर्ष से चली आ रही है.

    मेहूस गांवी की कहानी
    शेखपुरा जिले में मेहूस गांव है. यहां मां महेश्वरी के मंदिर में प्रत्येक वर्ष नवमी के मौके पर सवर्ण और महादलितों के बीच पूजा को लेकर महायुद्ध देखने के लिए काफी संख्या में लोग आते हैं. इस मंदिर में महादलित प्रवेश करना चाहता है लेकिन सवर्ण जाति के लोग मंदिर में उन्हें प्रवेश करने नहीं देते हैं. इस कारण दोनों पक्षों के बीच 'महायुद्ध' होता है. लेकिन अंत में महादलित मंदिर में प्रवेश कर जाते हैं और पूजा अर्चना शुरू हो जाती है.

    प्रतीकात्मक युद्ध
    सवर्ण जातियों का मानना है कि यह परंपरा वर्षों से चली आ रही है. यहां महादलित पूजा के लिए मंदिर में प्रवेश करने के दौरान सवर्णों से युद्ध करते हैं. फिर आपसी सहमति से सभी लोग मंदिर में प्रवेश करते हैं और पूजा करते हैं. मां महेश्वरी की कृपा से पूरे गांव में उन्नति और प्रगति रहती है. सवर्ण जाति के लोगों ने कहा कि प्रतिवर्ष हर्षोल्लास के वातावरण में ये त्योहार मनाया जाता है.

    दूसरी तरफ मंदिर के पुजारी जनार्दन पांडेय का कहना है कि कि मां महेश्वरी की पूजा अर्चना जो भी श्रद्धालु करते हैं और मन्नत मांगते हैं वह सभी मन्नतें पूरी हो जाती हैं. इस परंपरा का पालन प्रत्येक वर्ष दशहरे के मौके पर किया जाता है.

    गौरतलब है कि प्रत्येक वर्ष नवमी के दिन मां माहेश्वरी के मंदिर में पुरुष, महिलाएं और बच्चों की काफी भीड़ इकट्ठा होती है. सभी धर्म जाति के लोग इस आयोजन में शामिल होते हैं और आपसी एकता और सद्भाव की झलक देखने को मिलती है.

    (शेखपुरा से अजीत कुमार सिन्हा की रिपोर्ट)

    Tags: Bihar News

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर