ग्राउंड रिपोर्ट: बिहार चुनाव में नेपाल का गैरजिम्‍मेदार रवैया बना मुद्दा, वोटर्स कर रहे यह मांग

नेपाल ने रोका सड़क निर्माण तो बना चुनावी मुद्दा
नेपाल ने रोका सड़क निर्माण तो बना चुनावी मुद्दा

Bihar Chunav: स्थानीय लोग बताते हैं कि सड़क और पुल का काम शुरू होते ही नेपाल पुलिस (Nepal Police) इस इलाके में आती है और काम रुकवा देती है. यह पूरा इलाका सुरसंड विधानसभा क्षेत्र में आता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 5, 2020, 2:45 PM IST
  • Share this:
अमित पांडेय, सीतामढ़ी में भारत-नेपाल सीमा से

सीतामढ़ी. भारत-नेपाल सीमा (Indo-Nepal Border) पर पड़ोसी के विरोध के बाद सड़क और पुल का काम रोकना पड़ा था. अब इस बार के चुनाव में यह अहम मुद्दा बन गया है. यह इलाका सुरसंड विधानसभा क्षेत्र (Sursand Assembly Constituency) में पड़ता है, जहां पर 7 नवंबर को मतदान होना है. स्थानीय लोग प्रशासन से नेपाल सीमा तक जाने वाले इस अहम रास्ते को तुरंत बनाए जाने की मांग कर रहे हैं. सीतामढ़ी के भिट्टा मोड़ इलाके में भारत नेपाल सीमा के पास हर रोज स्थानीय नागरिक जमा होकर अपनी मांग सामने रखते हैं. वो यहां की सुरसंड विधानसभा क्षेत्र में प्रचार के लिए आए प्रत्याशियों से सीमा पर सड़क और पुल का काम तुरंत चालू करवाने की मांग कर रहे हैं. इनका काम पिछले 4 महीने से बंद है, क्योंकि नेपाल सरकार (Government of Nepal) की ओर से इसका विरोध किया गया था.

स्थानीय लोग बताते हैं कि काम शुरू होते ही नेपाल पुलिस इस इलाके में आती है और कहती है कि यह इलाका नो मैंस लैंड (यानी दोनों देशों के बीच का इलाका) है, लिहाजा यहां पर कोई निर्माण कार्य नहीं हो सकता. स्थानीय प्रशासन का कहना है कि काम पहले से ही बनाई गई सड़क पर हो रहा है, इसलिए विवाद की कोई बात नहीं.



स्थानीय निवासी किशोर चंद्र सक्सेना का कहना है कि हमेशा से यही होता रहा है कि भारत सरकार इस सड़क की मरम्मत करती है और अन्य जरूरी काम करती है, लेकिन ऐसा पहली बार हुआ है जब नेपाल की ओर से विरोध किया जा रहा है. सड़क और पुल न बनने से इलाके का जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है.
अचानक नेपाल के इस रुख के सामने आने के बाद दोनों देशों के अधिकारियों के बीच विवाद सुलझाने के लिए बैठक भी हुई, लेकिन सड़क पर निर्माण कार्य अब तक शुरू नहीं हो सका है. सीतामढ़ी भिट्टा मोड़ इलाके के लोगों के गुस्से की यह बड़ी वजह है. लोगों का कहना है किस सड़क और पुल न बनने से उनकी जिंदगी रुक सी गई है.



भारत नेपाल सीमा पर यह रास्ता एनएच 104 है. यह मधुबनी से मोतिहारी को जोड़ता है. समय-समय पर भारत सरकार इस रास्ते की मरम्मत करती रहती है और यहां जरूरी पुल बनवाती है. इसी सिलसिले में इस साल एक बार फिर भारत सरकार ने इस सड़क की मरम्मत और यहां पर पुल बनाने का काम जैसे ही शुरू किया, नेपाल सरकार की ओर से इस पर एतराज जताया गया.

भारत-चीन विवाद सामने आने के बाद पिछले चार महीने से नेपाल का यही रुख है. सड़क ही नहीं, यहां खेतों में पानी देने वाली नहर, चेकप्वाइंट की छत पर छज्जा डलवाने जैसे काम में नेपाल की ओर से ऐतराज जाहिर किया गया है. इसकी वजह से उसका भी काम रुका हुआ है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज