तिहाड़ जेल में बना था प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह का मर्डर प्लान, शूटरों ने तीन महीने तक की थी रेकी

जेडीआर के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह को जनसंपर्क के दौरान तीन शूटरों ने भीड़ में शामिल होकर गोली मार दी थी (फाइल फोटो)
जेडीआर के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह को जनसंपर्क के दौरान तीन शूटरों ने भीड़ में शामिल होकर गोली मार दी थी (फाइल फोटो)

ग्रामीणों द्वारा पीछा कर पकड़े गए आरोपी नीरज पाठक उर्फ चाइनीज ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की हत्या के लिए उन्होंने तीन महीने तक उनकी रेकी की थी. अंत में शनिवार को शिवहर के पुरनहिया प्रखंड के हथसार गांव में जनसंपर्क के दौरान उन्होंने श्रीनारायण सिंह को गोली मार दी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 27, 2020, 12:19 AM IST
  • Share this:
सीतामढ़ी. जनता दल राष्ट्रवादी (JDR) के प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह हत्याकांड मामले (Sri Narayan Singh Murder) में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक उम्मीदवार की हत्या की साजिश दिल्ली के तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में रची गई थी. शनिवार को श्रीनारायण सिंह की बाइक सवार अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस घटना में उनके दो समर्थकों को भी गोली लगी थी जिसमें से एक की इलाज के दौरान मौत हो गई थी. वारदात के बाद भाग रहे एक अपराधी को स्थानीय लोगों ने पीछा कर पकड़ लिया था और उसकी जमकर पिटाई की थी, जिससे आरोपी की मौत हो गई थी.

पुलिस के मुताबिक इस हत्याकांड का सूत्रधार दिल्ली के तिहाड़ जेल मे बंद विकास झा उर्फ कालिया नाम का अपराधी है. विकास को कुख्यात गैंगस्टर संतोष झा का दाहिना हाथ माना जाता था. दो वर्ष पहले संतोष झा की सीतामढ़ी सिविल कोर्ट में सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

बताया जा रहा है कि जनता दल राष्ट्रवादी के उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की हत्या के लिए तीन शूटरों को तैयार किया गया था. यह सभी शूटर सीतामढ़ी जिले के रहने वाले थे. इनकी पहचान गौरी शंकर महाराज उर्फ किशन झा, नीरज पाठक उर्फ चाइनीज और बाबू साहब झा के रूप में हुई है. श्रीनारायण सिंह को गोली मारने के बाद भाग रहे दो शूटरों को ग्रामीणों ने पीछा कर दबोच लिया. आक्रोशित लोगों ने इनमें से एक अपराधी गौरी शंकर महाराज उर्फ किशन झा को पीट-पीटकर मार डाला. जबकि दूसरे नीरज पाठक उर्फ चाइनीज को पीटकर घायल कर दिया था. इसकी सूचना पर वहां पहुंची पुलिस अपराधी को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई थी. पुलिस की पूछताछ में आरोपी नीरज पाठक ने हत्याकांड से जुड़े राज उगले तो पूरे मामले का खुलासा हुआ.



श्रीनारायण सिंह की हत्या के लिए शूटरों ने तीन महीने तक की थी रेकी
नीरज पाठक उर्फ चाइनीज ने बताया कि उम्मीदवार श्रीनारायण सिंह की हत्या के लिए पटना में जनता दल राष्ट्रवादी के ऑफिस तक उन्होंने उनका पीछा किया था. लेकिन उन्हें मारने के लिए सही मौका नहीं मिला. उसने यह भी बताया कि नामांकन दाखिल करने के दिन श्रीनारायण सिंह को शिवहर अनुमंडल कार्यालय में मारने के लिए तीन शूटर आए थे. मगर यहां भारी संख्या में पुलिसबलों की तैनाती के चलते वारदात को अंजाम नहीं दिया जा सका. आरोपी ने बताया कि उसने हत्या करने के लिए श्रीनारायण सिंह की तीन महीने तक रेकी की थी. अंत में शनिवार को शिवहर के पुरनहिया प्रखंड के हथसार गांव में जनसंपर्क के दौरान उन्होंने श्रीनारायण सिंह को गोली मारकर हत्या कर दी.

शूटर नीरज पाठक ने बताया कि काम करने से पहले उसे 50 हज़ार की राशि अग्रिम तौर पर दी गई थी. वहीं काम खत्म होने के बाद मुंह मांगे पैसे देने जाने का आश्वासन दिया गया था.

शिवहर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) संतोष कुमार ने कहा है कि अपराधियों के बीच वर्चस्व और प्रतिद्वंदिता को लेकर यह हत्या की गई है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधी के पास से एक लोडेड पिस्टल बरामद किया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज