सीतामढ़ी: 20 साल से स्वच्छता का अलख जगा रहे हैं दुखा साह, अब जिला प्रशासन करेगा सम्मानित

सीतामढ़ी में एक व्यक्ति दुखा शाह 20 साल से स्वच्छता का संदेश दे रहे हैं.

सीतामढ़ी में एक व्यक्ति दुखा शाह 20 साल से स्वच्छता का संदेश दे रहे हैं.

सीतामढ़ी जिले में सोनबरसा के भुतही और उसके आसपास के इलाकों में दुखा साह नामक शख्स 20 साल से मोदी सरकार के स्वच्छता अभियान का संदेश दे रहा है. वह भी बिना किसी लोभ और लालच के. अब लोग उससे प्रेरणा भी लेने लगे हैं.

  • Last Updated: March 25, 2021, 5:44 PM IST
  • Share this:
सीतामढ़ी. पूरे देश में स्वच्छता अभियान (Cleanliness campaign) को लेकर कई तरह के मुहिम चल रही हैं. देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) खुद समय समय पर देशवासियों में स्वच्छता अभियान को लेकर संदेश देने का काम करते हैं. साफ-सफाई को लेकर लोगों को प्रेरित करने के लिये व्यापक प्रचार प्रसार भी किया जा रहा है, लेकिन इसके बाद भी लोग साफ-सफाई के प्रति पूरी तरीके से जागरुक नही दिख रहे हैं, लेकिन सीतामढ़ी के सदर अनुमंडल के सोनबरसा प्रखंड का एक शख्स दुखा साह पिछले 20 सालों से आम लोगों को स्वच्छता का संदेश देने का काम कर रहा है.

सोनबरसा प्रखंड के भुतही और उसके आसपास के इलाकों में दुखा साह नामक यह शख्स बिना किसी लोभ और लालच के इलाके की साफ सफाई करता है. भुतही चौक पर नियमित रुप से दुखा साह कूड़ा और गंदगी की साफ-सफाई करते देखे जा सकते हैं. इतना ही नही दुखा साह आसपास के इलाके में स्थित सरकारी स्कूलों में भी जाकर उसकी साफ सफाई करता है. इसके बदले आज तक दुखा को ना तो मेहनताना मिला और ना ही किसी तरीके का जिला प्रशासन से प्रशस्ति पत्र ही. दुखा मजदूरी करता है. और उससे अपना घर परिवार चलाता है.

इस काम के बाद उसके पास जो समय बचता है. उसका इस्तेमाल वह इलाके को स्वच्छ रखने में करता है. मजदूरी से दुखा जो पैसे कमाता है उसका इस्तेमाल वह बीमार अवारा पशुओं को खिलाने मे करता है. बीमार अवारा पशुओं का सेवा करना भी दुखा के पेंशन में शामिल है. सरकारी स्कूल मे पढ़ने वाले बच्चों के बीच दुखा साह चाकलेट और टाॅफी भी बांटता है. दुखा साह के इस काम को लेकर इलाके के लोग उसके फैन हैं. स्थानीय लोग दुखा की तारिफ करते नही थकते. कहा जा सकता है स्वच्छता अभियान को लेकर दुखा साह का जो प्रयास है वह अंधेरी सुरंग मे किसी मशाल से कम नहीं है.

ये काम करने में आनंद की अनुभूति होती है : दुखा साह 
दुखा साह का कहना है कि उसको यह काम करने मे आनंद की अनुभूति होती है. साफ-सफाई के काम में उसको अच्छा लगता है. इधर सीतामढ़ी के सुचना जनसम्पर्क पदाधिकारी परिमल कुमार कहते हैं कि दुखा साह का काम बेहद अच्छा है, उससे लोगो को प्रेरणा लेने की जरुरत है. आने वाले समय मे दुखा साह को जिला प्रशासन सम्मानित करने का काम करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज