Runnisaidpur Assembly Seat: जनता दल के बाद JDU का रहा वर्चस्‍व, 2015 के चुनाव में RJD ने मारी थी बाजी

Runnisaidpur Assembly Seat Profile: बदले सियासी हालात में रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट पर मुकाबला दिलचस्‍प होने की उम्‍मीद है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
Runnisaidpur Assembly Seat Profile: बदले सियासी हालात में रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट पर मुकाबला दिलचस्‍प होने की उम्‍मीद है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

Runnisaidpur Assembly Seat Profile: रुन्‍नीसैदपुर सीट पर जनता दल के प्रत्‍याशी ने लगातार तीन बार जीत हासिल की थी. उसके बाद JDU ने दो बार जीत हासिल की थी. वर्ष 2015 के चुनाव में RJD ने परचम लहराया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 20, 2020, 11:08 AM IST
  • Share this:
सीतामढ़ी. बिहार विधानसभा चुनाव (2020) के समीप आने के साथ ही असेंबली सीटों को लेकर विभिन्‍न पार्टियों में मंथन का दौर भी शुरू हो चुका है. NDA (राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) और महागठबंधन के प्रत्‍याशियों के बीच ही मुकाबला होने के आसार हैं. ऐसे में दोनों परस्‍पर विरोधी गठबंधन के अंदर सीटों का विश्‍लेषणात्‍मक अध्‍यय शुरू हो चुका है. इसमें सीतामढ़ी संसदीय क्षेत्र में आने वाली विधानसभा की 8 सीटों पर भी सभी राजनीतिक दलों की नजरें हैं. सीमामढ़ी संसदीय क्षेत्र में रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट का स्‍थान अहम है. यहां भी महागठबंधन और एनडीए के बीच सीधा मुकाबला होने की उम्‍मीद है. हालांकि, अभी तक दोनों धड़ों में से किसी ने भी अपने चुनावी पत्‍ते नहीं खोले हैं.

कभी जनता दल का था वर्चस्‍व
रुन्‍नीसैदपुर विधानसभा सीट पर जनता पार्टी के साथ ही कांग्रेस उम्‍मीदवार भी जीत हासिल कर चुके हैं, लेकिन यहां आमतौर पर जनता दल का वर्चस्‍व हुआ करता था. उसके बाद जनता दल यूनाइटेड (JDU) के प्रत्‍याशी ने यहां से लगातार दो बार चुनाव जीता. वर्ष 2015 के विधानसभा चुनाव में बिहार का चुनावी परिदृश्‍य ही बदल गया था. प्रदेश की चुनावी राजनीति दो हिस्‍सों में बंट गई थी. एक तरफ महागठबंधन तो दूसरी तरफ एनडीए था. पिछले चुनाव के दौरान यह सीट महागठबंधन के प्रमुख घटक दल RJD के खाते में गई थी. राजद प्रत्‍याशी ने यहां जीत का परचम लहराया था.

बदल गया है चुनावी समीकरण
पिछले चुनाव के मुकाबले इस बार रुन्‍नीसैदपुर में चुनावी समीकरण बदल गए हैं. वर्ष 2015 के विधानसभा चुनावों के दौरान इस सीट पर रजिस्‍टर्ड वोटर्स की संख्‍या 2,56,495 थी. इनमें से 1,37,464 मतदाताओं ने अपने मत का इस्‍तेमाल किया था. राजद उम्‍मीदवार मंगिता देवी को 55,699 वोट मिले थे, जबकि BLSP प्रत्‍याशी पंकज कुमार मिश्रा 41,589 मत ही हासिल कर सके थे. दिलचस्‍प है कि पिछले चुनाव में इस सीट पर 7,249 वोट नोटा के पक्ष में गए थे. नोटा वोट के मामले में चौथे स्‍थान पर रहा था. हालांकि, जेडीयू के महागठबंधन से निकलने और एनडीए में शामिल होने के बाद रुन्‍नीसैदपुर सीट के चुनावी समीकरण बदल गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज