रघुनाथपुर विधानसभा सीट: यहां आरजेडी और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर

रघुनाथपुर सीट पर लगी राजनीतिक प्रतिष्ठा (file photo)
रघुनाथपुर सीट पर लगी राजनीतिक प्रतिष्ठा (file photo)

Bihar Assembly Election 2020: रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस ने 7 बार विधानसभा चुनावों में जीत हासिल की है. लेकिन वर्तमान में यहां आरजेडी और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर देखी जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 11:36 PM IST
  • Share this:
सीवान. रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र (Raghunathpur Assembly Constituency) सीवान जिले में आता है. ये क्षेत्र राजपूतों का गढ़ माना जाता है. इस विधानसभा सीट पर सात बार कब्जा जमाने वाली कांग्रेस यहां पिछले 20 वर्षों से खाली हाथ है. 1952 के पहले चुनाव में कांग्रेस के रामानन्द यादव विधायक बने थे. तब से लेकर अब तक यहां से कुल 7 बार कांग्रेस प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की है. 1952, 1962 व 1969 में कांग्रेस के रामानन्द जीते. वर्तमान में यहां राष्ट्रीय जनता दल (RJD) नेता हरिशंकर यादव विधायक हैं. पिछले चुनाव में हरिशंकर यादव ने बीजेपी उम्मीदवार मनोज कुमार सिंह को करीब 11 हजार वोटों के अंतर से हराया था. वर्तमान में यहां आरजेडी और बीजेपी के बीच कड़ी टक्कर देखी जा रही है.

कौन किस पर रहा भारी

इस सीट की बात करें तो रामदेव सिंह दो बार 1957 और 1967 में विधायक चुने गए, जबकि 1972 में श्रीनिवासन सिंह विधायक चुने गए थे. 1977 में विक्रम कुंवर विधायक बने. 1980, 1985 और 1990 में जीत की हैट्रिक लगाने वाले कांग्रेस के वरीय नेता और वर्तमान में मांझी विधानसभा क्षेत्र से विधायक विजय शंकर दुबे ने अंतिम बार 2000 में यहां से जीत दर्ज की थी. फरवरी 2005 और अक्टूबर 2005 के विधानसभा चुनाव में उन्हें करारी हार मिली तो पार्टी ने यहां से अपना उम्मीदवार खड़ा ही नहीं किया.



समिकरण बदला
फरवरी 2005 में हुए विधानसभा चुनाव में सभी समीकरण ध्वस्त हो गए. निर्दलीय जगमातो देवी यहां से जीत दर्ज की. हालांकि त्रिशंकु विस के चलते फिर से अक्टूबर 2005 में चुनाव हुआ. जगमातो देवी इसबार जेडीयू की टिकट पर चुनाव लड़ी और जीत दर्ज की. 2010 में नए परिसीमन पर विधानसभा का चुनाव हुआ. आरजेडी फिर लोजपा से होते हुए बीजेपी में आए विक्रम कुंवर को टिकट मिला. जिसमें उन्होंने शानदार जीत दर्ज की. हालांकि 2015 के चुनाव में विक्रम कुंवर का टिकट काटकर जेडीयू छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए मनोज कुमार सिंह को दिया गया. लेकिन, आरजेडी उम्मीदवार हरिशंकर यादव ने दस हजार से अधिक वोटों के अंतर से पराजित कर दिया. तब जेडीयू, कांग्रेस व आरजेडी मिलकर चुनाव लड़े थे. अब समीकरण बदला है.

राजपूत समुदाय के लोगों की संख्या ज्यादा   

रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र में राजपूत समुदाय के लोगों की संख्या ज्यादा है. यही कारण है कि इस सीट पर किसका कब्जा होगा इसका सीधा असर इस बात से होता है कि राजपूत वोट किसके पाले में गिरते हैं या गिरेंगे. आंकड़ों की बात करें तो 2011 की जनगणना के मुताबकि यहां की कुल आबादी 3,95,063 है और इसमें 100 फीसदी लोग ग्रामीण हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज