गोरेयाकोठी विधानसभा सीटः इस बार इन दो पार्टियों में कांटें की टक्कर

बिहार विधानसभा चुनाव 2020.
बिहार विधानसभा चुनाव 2020.

Bihar Assembly Election: 2015 के विधानसभा चुनाव में गोरेयाकोठी से राजद के उम्मीदवार सत्यदेव प्रसाद सिंह को जीत मिली थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 4:42 PM IST
  • Share this:
सीवान. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 (Bihar Assembly Election 2020) का ऐलान हो गया है. राज्य में इस बार चुनाव तीन चरणों में होगा. चुनावों की तारीखों के ऐलान की साथ बिहार की राजनीति में एक बार फिर से उबाल आ गया है. वहीं सीवान जिले की गोरियाकोठी विधानसभा सीट (Goriyakothi assembly seat) पर सभी पार्टियों के उम्मीदवार प्रचार के लिए मैदान में उतर आए हैं. इस सीट से फिलहाल आरजेडी नेता सत्यदेव प्रसाद सिंह विधायक हैं. सत्यदेव सिंह पहले बीजेपी के नेता हुआ करते थे लेकिन बाद में वो आरजेडी के साथ हो गए और पिछले चुनाव में उन्होंने बीजेपी उम्मीदवार देवेश कांत सिंह को 7 हजार से ज्यादा वोटों के अंतर मात दी थी.

गोरेयाकोठी सीट का इतिहास

यहां के वोटर पार्टी देखकर नहीं बल्कि उम्मीदवार के नाम पर वोट डालते रहे हैं. फिर चाहे वो उम्मीदवार पार्टी बदल ही क्यों न ले. जैसे 1977 में जनता पार्टी के नेता रहे इंद्रदेव प्रसाद ने बाद में बीजेपी, जनता दल और आरजेडी में रहे. लेकिन लोगों के लिए उनके प्रति प्यार कम नहीं हुआ. वो बीजेपी, जनता दल और आरजेडी में रहते हुए चुनाव जीते. इस सीट पर अभी तक कांग्रेस को 4 बार जीत हासिल हो सकी है. कांग्रेस के उम्मीदवारों को 1980  के बाद से जीत नहीं मिल सकी है. इसके अलावा बीजेपी और आरजेडी को 3-3 बार और जनता दल के उम्मीदवार 2 बार इस सीट से जीते हैं.



2015 के परिणाम
2010 में बीजेपी से जीत हासिल करने वाले भुमेंद्र नारायण सिंह को 2015 में बीजेपी से टिकट नहीं मिला. उनकी जगह देवेश कांत सिंह को टिकट मिला और वो आरजेडी के उम्मीदवार सत्यदेव सिंह से 7 हजार से ज्यादा वोटों से हार गए. हलांकि, 2015 के चुनावों में महज 4 फीसदी कम वोट पाने वाली बीजेपी को इस बार जेडीयू का साथ है. बता दें कि 2015 में जेडीयू और आरजेडी एक साथ लड़े थे. ऐसे में इस बार ये सीट एनडीए के खाते में भी जा सकती है.

सत्येदव प्रसाद को मिली थी जीत

साल 2015 के विधानसभा चुनाव में गोरेयाकोठी से राजद के उम्मीदवार सत्यदेव प्रसाद सिंह को जीत मिली थी. इस सीट पर सत्यदेव प्रसाद को 70 हजार से ज्यादा वोट मिले. वहीं, दूसरे स्थान पर बीजेपी के देवेशकांत सिंह थे. देवेशकांत सिंह को करीब 63 हजार वोट मिले थे. इसके अलावा तीसरे स्थान पर निर्दलीय उम्मीदवार त्रिभुवन राम और चौथे स्थान पर रेणू यादव थीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज